Monday, Jan 21, 2019

IndvsAus: धोनी-रायुडू के लिए बेहद खास है ये सीरीज, विश्वकप से पहले फॉर्म में लौटने की चुनौती

  • Updated on 1/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जाने वाली एकदिवसीय सीरीज का पहला मुकाबला कल शनिवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेला जाएगा। इस मैच में हार्दिक पांड्या और केएल राहुल को इस मैच में खिलाने पर विराट अभी सस्पेंस में हैं। हालांकि इसके अलावा भारतीय टीम ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। विश्वकप से पहले इस मैच की महत्वता काफी ज्यादा है। इस सीरीज में धोनी और रायुडू पर काफी निगाहें रहेंगी। 

दोनों सलामी बल्लेबाजों के बाद कोहली तीसरे नंबर पर उतरेंगे। जाधव, महेंद्र सिंह धोनी और अंबाती रायुडू मध्यक्रम क्रम का हिस्सा हो सकते हैं। इस श्रृंखला में धोनी और रायुडू की फार्म पर विशेष रूप से नजर रहेगी। धोनी 2018 में खराब फार्म से जूझते रहे और इस दौरान 20 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 25 की औसत से 275 रन ही बना सके। यह विकेटकीपर बल्लेबाज इस दौरान एक भी अर्धशतक नहीं जड़ पाया। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी 71 . 42 रहा जो 87 . 89 के उनके करियर स्ट्राइक रेट से काफी कम है।

IndvsAus: पांड्या- राहुल को मंहगे पड़े बिगड़े बोल, पहले वनडे से हुए बाहर

भारत चौथे नंबर की महत्वपूर्ण भूमिका के लिए रायुडू को आजमा रहा है और पिछले साल सितंबर में एशिया कप से उन्हें पर्याप्त मौके दे रहा है। इस दौरान रायुडू ने एशिया कप और वेस्टइंडीज के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में 11 एकदिवसीय मैचों में एक शतक और तीन अर्धशतक की बदौलत 56 के औसत से 392 रन बनाए। 

कोहली के हाथ लगी वर्ल्ड कप ट्रॉफी, कहा- अब बस फोकस इसे जीतने पर- देखें Pics

इस स्थान के अन्य दावेदारों की तुलना में रायुडू के प्रदर्शन में अधिक निरंतरता देखने को मिली है लेकिन उन्होंने जिन परिस्थितियों में प्रदर्शन किया है वे इंग्लैंड के हालात से काफी अलग हैं। रायुडू आस्ट्रेलिया और फिर न्यूजीलैंड दौरे पर कैसा प्रदर्शन करते हैं इससे तय होगा कि भारत चौथे नंबर की पहेली का हल खोजने में सफल रहा है या नहीं।

B'day Spcl: यूं ही नहीं टीम इंडिया की 'दीवार' थे राहुल द्रविड़, दर्ज हैं ये अनोखे रिकॉर्ड

भारत को आस्ट्रेलिया के पिछले दौरे पर भी जनवरी 2016 में एकदिवसीय श्रृंखला में इसी तरह की परेशानी का सामना करना पड़ा था और तब धोनी की अगुआई में भारतीय टीम को 1-4 से शिकस्त झेलनी पड़ी थी। रोहित और कोहली ने तब पांच मैचों की श्रृंखला में क्रमश: 441 और 381 रन बनाए थे जबकि धवन ने 287 रन बटोरे थे। मध्यक्रम हालांकि उपयोगी योगदान देने में नाकाम रहा था और मनीष पांडे के अंतिम एकदिवसीय मैच में जुझारू शतक की बदौलत ही भारतीय टीम 5-0 से क्लीनस्वीप से बचने में सफल रही थी। 

टीमों इस प्रकार हैं:
    
भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, शिखर धवन, अंबाती रायुडू, दिनेश कार्तिक, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी, हाॢदक पंड्या, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज में से।     

आस्ट्रेलिया (अंतिम एकादश): आरोन फिंच (कप्तान), एलेक्स कैरी, उस्मान ख्वाजा, शान मार्श, पीटर हैंड्सकोंब, मार्कस स्टोइनिस, ग्लेन मैक्सवेल, नाथन लियोन, पीटर सिडल, झाय रिचर्डसन और जेसन बेहरेनडोर्फ। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.