Friday, Jan 18, 2019

B'day Spcl: यूं ही नहीं टीम इंडिया की 'दीवार' थे राहुल द्रविड़, दर्ज हैं ये अनोखे रिकॉर्ड

  • Updated on 1/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान दिग्गज क्रिकेटर और अपने व्यक्तित्व के लिए करोड़ों लोगों के दिल पर राज करने वाले महान बल्लेबाज राहुल द्रविड़ आज 11 जनवरी को 46 साल के हो गए हैं। द्रविड़ ने क्रिकेट की दुनिया में एक खास पहचान बनाई है। महज 12 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरु करने वाले द्रविड़ को अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में टीम इंडिया के 'मिस्टर रिलायबल' और 'दीवार' के नाम से जानने लगे। द्रविड़ का जन्म 11 जनवरी 1973 को इंदौर में हुआ था। 

द्रविड़ ने साल 1996 में श्रीलंका के खिलाफ सिंगर कप में पहली बार अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। इसके बाद उन्होंने उन तमाम उंचाइयों को छूआ जिन्हें पाने के लिए एक क्रिकेटर पूरी जिंदगी संघर्ष करता है। विराट इन दिनों भारतीय अंडर 19 क्रिकेट टीम व इंडिया ए टीम को मुख्य कोच हैं। इसके अलावा वो भारतीय टीम के ओवरसीज बैटिंग कंसल्टेंट भी हैं। तो इसके अलावा हम आपको बताते हैं राहुल द्रविड़ के बारे में कुछ खास बातें। 

द्रविड़ के अनोखे रिकार्ड

Image result for rahul dravid

द्रविड़ के रिकार्ड बेमिसाल हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 13000 से ज्यादा रन और वनडे क्रिकेट में 10000 से ज्यादा रन बनाए हैं। द्रविड़ ने अपने क्रिकेट करियर में 164 टेस्ट मैचों में 52.31 की औसत से 13288 रन बनाए थे जबकि 344 वनडे में उन्होंने 39.16 की औसत से 10889 रन बनाए थे। टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम पर 36 शतक हैं जबकि वनडे में उन्होंने 12 शतक लगाए थे। टेस्ट में द्रविड़ का सर्वाधिक स्कोर 270 था जबकि वनडे में उनका बेस्ट स्कोर 153 रन रहा। उन्होंने एक मात्र अंतरराष्ट्रीय टी 20 मैच भी खेला जिसमें उन्होंने 31 रन की पारी खेली थी। अपने टेस्ट करियर में उन्होंने 31258 गेंदों का सामना किया और क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप में वो सबसे ज्यादा गेंदें खेलने वाले खिलाड़ी हैं। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने क्रीज पर 44152 मिनट बिताए और इस प्रारूप में क्रीज पर सबसे ज्यादा वक्त बिताने वाले खिलाड़ी हैं। 

राहुल द्रविड़ का जीवन परिचय

Image result for rahul dravid

राहुल द्रविड़ का जन्म मध्य प्रदेश के इंदौर में एक मराठी देशस्थ ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनका परिवार बाद में कर्नाटक, बैंगलोर चला गया, जहां उनका पालन-पोषण हुआ। द्रविड़ की मातृभाषा मराठी है। द्रविड़ के पिता शरद द्रविड़ जैम की एक कंपनी चलाते हैं जिसकी वजह से राहुल द्रविड़ का उपनाम जेमी पड़ा है। उनकी मां पुष्पा बैंगलोर के यूनिवर्सिटी विश्वेश्वरैया कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग (UVCE) में आर्किटेक्चर की प्रोफेसर थीं।  द्रविड़ का एक छोटा भाई है जिसका नाम विजय है। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट जोसेफ्स बॉयज हाई स्कूल, बैंगलोर में की और सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स, बैंगलोर से वाणिज्य में डिग्री हासिल की। उन्हें सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में एमबीए की पढ़ाई के दौरान भारत की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में चुना गया था। वह कई भाषाओं, मराठी, कन्नड़, अंग्रेजी और हिंदी के जानकर हैं। 


आईपीएल सफर

Image result for dravid ipl
राहुल द्रविड़ आईपीएल 2008, 2009 और 2010 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेले। बाद में वे राजस्थान रॉयल्स के लिए खेले और 2013 में चैंपियंस लीग टी20 के फाइनल में पहुंचे और 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग के प्ले-ऑफ में पहुंचे। द्रविड़ ने 2013 में चैंपियंस लीग ट्वेंटी 20 के सितंबर-अक्टूबर 2013 में खेलने के बाद टी20 से संन्यास की घोषणा की। द्रविड़ ने 89 आईपीएल मैचों में 28.23 की औसत से 2174 रन बनाए। जिसमें 11 अर्धशतक शामिल थे। इस दौरान उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 75 रन रहा है। 

अवार्ड्स

Image result for dravid awards

साल 2000 में विजडन क्रिकेटर्स ने उन्हें साल के टॉप 5 क्रिकेटर्स में शुमार किया था। 2004 में उन्होंने आईसीसी का बेस्ट टेस्ट क्रिकेटर का अवॉर्ड भी अपने नाम किया था। दिसंबर 2011 में वह पहले गैर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर बने, जिन्हें कैनबरा में ब्रैडमैन ओरेशन दिया गया था। द्रविड़ को अर्जुन अवार्ड, पद्म श्री और पद्म भूषण जैसे सम्मानों से भी नवाजा जा चुका है।राहुल द्रविड़ ऐसे पांचवें भारतीय खिलाड़ी बने थे जो आइसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल किए गए थे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.