indian-team-records-in-australia-and-new-zealand-in-the-last-three-months

भारतीय टीम ने 3 महीनों में ऐसा किया कि विश्व क्रिकेट ने माना लोहा, ये हैं उपलब्धियां

  • Updated on 2/11/2019

नई दिल्ली/अमरदीप शर्मा। विदेशी जमीन पर करीब तीन महीने तक अपना डंका बजाने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम स्वदेश लौटेगी। ऑस्ट्रलिया और न्यूजीलैंड की धरती पर भारत ने अपनी कामयाबी की नई इबारत लिखी। युवा खिलाड़ियों से सजी टीम पूरे दौरे पर जोश और जुनून ले लवरेज दिखी।

 टेस्ट और वनडे सीरीज जीतकर भारतीय खिलाड़ियों विश्व क्रिकेट में साबित कर दिया कि आखिर अब हम प्रथ्वी के किसी भी कोने में जाकर खेल सकते हैं और जीत भी सकते हैं। आगामी विश्वकप को लेकर ये दौरा काफी अहम माना जा रहा था। जिसके बाद भारत ने साबित कर दिया कि वे विश्वकप जीत के प्रबल दावेदार हैं। 

इस दौरे पर भारत ने कई खिलाड़ियों की कामयाबी देखी तो कई खिलाड़ी फ्लाप भी रहे। इसी दौरे पर हमने रिषभ पंत, अंबाती रायडू, केदार जाधव, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल जैसे युवा सितारों को निखरते देखा। भारतीय टीम गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों ही क्षेत्रों में अब्बल दिखी। इसके साथ ही टीम मैनेजमेंट को भी विश्वकप के लिए टीम चयन का फायदा मिलेगा। इस बात में कोई शक नहीं हैं कि इस दौर पर अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को इसका लाभ मिलेगा। 

तो चलिए हम आपको बताते हैं पिछले तीन महीने के दौरे पर भारतीय टीम ने क्या खोया- क्या पाया।

विश्व क्रिकेट में बनाया दबदबा...

भारत ने ऑस्टेलिया के घर में घुसकर पहली बार टेस्ट सीरीज जीतकर इतिहास रच दिया। आजाद भारत में ऐसा कारनामा करने वाली ये पहली टीम थी जो इस काम को अंजाम देने में कामयाब रही। इससे पहले भारतीय टीम को घर का शेर कहा जाता था। भारतीय खिलाड़ी एशिया के बाहर निकलते ही अपनी झमता के अनुरुप प्रदर्शन नहीं कर पाते थे। जिससे लोगों के दिमाग में ऐसी छवि बन गई थी कि भारत विदेश में विश्वकप नहीं जीत पाएगा। इसके बाद भारत ने वनडे सीरीज में भी पहली बार  कंगारुओं को धूल चटाकर अपनी धाक दिखाई। 

न्यूजीलैंड को भी धोया...

न्यूजीलैंड की टीम अपने घर में काफी मजबूत मानी जाती है। जिसके चलते जब भारत की टीम न्यूजीलैंड पहुंची तो कयाल लगाए जा रहे थे कि शायद भारत यहां मैच हार जाएगा। लेकिन विराट सेना ने एकदिवसीय सीरीज को 4-1 से अपने नाम करके इस बात को भी सिद्द कर दिया की हम ऑस्ट्रेलिया के साथ किसी भी टीम को हराने का माद्दा रखते हैं। हालांकि इसके बाद टीम तीन मैचों की  T-20 सीरीज में 2-1 से हार गई। सीरीज का आखिरी मुकाबला बेदह रोमांचक रहा। आखिरी गेंद पर आकर भारत हार गया। 

निखरे युवा खिलाड़ी....

इस दौरे पर कई ऐसे चेहरे रहे जो खुद को अंतराष्ट्रीय स्तर पर साबित करने में सफल रहे। जिसमें हममे रिषभ पंत को काफी निखरते देखा। मध्यक्रम की बात करें तो रायडू, केदार जाधव और दिनेश कार्तिक ने टीम को मजबूती देने के साथ विश्वकप के लिए भी अपनी दावेदारी सिद्द कर दी हैा इसके साथ ही महेंद्र सिंह धोनी ने भी इस दौरे पर काफी प्रभावित किया है। रोहित शर्मा और शिखर धवन ने टीम को शानदार शुरुआत देकर इस दौरे पर अपनी धाक बरकरार रखी। 

कुल्चा का जलवा...

स्पिन गेंदबाजी हमेशा से ही भारतीय टीम की ताकत मानी जाती है। भारत के कई स्पिन गेंदबाज जिन्होंने देश के लिए खेलते हुए विश्व भर में अपनी छाप छोड़ी है। जिसमें अनिल कुंबले, हरभजन सिंह, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा के नाम शामिल हैं। हालांकि मौजूदा वक्त में युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की जोड़ी ने अपना जलवा बिखेरा है। इन दोनों ही गेंदबाजों को पढ़ने में विश्वभर के तमाम दिग्गज खिलाड़ियों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इन दोनों की इस जोड़ी ने इस सीरीज में कुल मिलाकर 17 विकेट झटके। जहां युजवेंद्र चहल के खाते में 9 तो कुलदीप यादव ने 8 विकेट लिए। जिसके चलते इन दोनों की टीम में जगह लगभग पक्की हो गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.