Sunday, May 22, 2022
-->
many such big sports events will be organized in delhi, himachal and other areas next year: anurag

अगले वर्ष दिल्ली, हिमाचल सहित अन्य इलाकों में ऐसे कई बड़े खेल आयोजन कराए जाएंगे:अनुराग ठाकुर

  • Updated on 4/30/2022

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहल पर एक तरफ जहां खेलो इंडिया युवा गेम्स जैसे आयोजन छिपी हुए प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों को सामने लाने में मददगार होंगे। वहीं दूसरी तरफ खेलो इंडिया मास्टर्स गेम्स जैसी प्रतियोगिताओं में उम्र की सीमा से परे खिलाडिय़ों के प्रतियोगिता में शामिल होने के जबरदस्त जज़्बा की जितनी सराहना की जाए कम है। त्यागराज स्टेडियम में खेलो मास्टर्स गेम्स में शामिल होने वाले 30 से 95 वर्ष तक की आयु के खिलाडिय़ों के जज़्बा की उन्होंने जमकर तारीफ की। उन्होंने खेलो इंडिया युवा गेम्स प्रतियोगिता के संदर्भ में कहा कि उम्मीद है कि ऐसे आयोजन प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों को दूर-दराज तक के इलाके से खोजने और सामने लाने में मददगार साबित होंगे। उन्होंने कहा कि महामारी के बाद यह पहला बड़ा आयोजन है और संभव है कि अगले वर्ष दिल्ली और हिमाचल सहित कई अन्य इलाकों में ऐसे बड़े आयोजन कराए जाएंगे। 

Patiala Violence: AAP के रिश्ते जिन लोगों से हैं चुनाव के दौरान इस पर उठे थे सवाल- अनुराग ठाकुर 

खेलो इंडिया मास्टर्स गेम्स का छह अलग-अलग स्थान पर आयोजन हो रहा है। करीब 3हजार खिलाड़ी खेल रहे हैं, जिसमें पूर्व ओलंपियन भी शामिल हैं। ठाकुर ने इस दौरान बैडमिंटन भी खेला और उपस्थित खिलाडिय़ों के साथ अपने अनुभव साझा करते हुए फोटो भी खिंचवाई। खेल मंत्री ने एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से एशियाड खेलों में भारत की भागीदारी से जुड़े सवाल पर कहा कि निश्चित रूप से यह फैसला कोविड-19 के मामलों से जूझ रहे मेजबान देश चीन से प्रतिक्रिया मिलने के बाद लिया जाएगा। दरअसल इस तरह की बातें भी सामने आ रही हैं कि 10 से 25 सितंबर तक होने वाले हांगझोऊ एशियाई खेलों को महामारी के कारण स्थगित कर दिया जाएगा। 

एशियाड में भारत की भागीदारी पर फैसला मेजबान देश चीन की प्रतिक्रिया मिलने पर होगा
उन्होंने कहा कि चीन में क्या स्थिति है और मेजबान देश स्थिति के बारे में क्या कह रहा है, यह महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा इसमें भाग लेने वाले अन्य सभी देश भी चर्चा कर रहे हैं और कुछ समय में भारत भी फैसला करेगा, लेकिन इससे पहले मेजबान देश को यह स्पष्ट कर देना चाहिए कि वे क्या सोच रहे हैं और इसके लिए कितने तैयार हैं। गौरतलब है कि चीन में महामारी के कारण कई अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजन रद्द कर दिए गए थे, लेकिन बीङ्क्षजग शीतकालीन ओलंपिक और पैरालंपिक 2022 खेलों का आयोजन कोविड-19 के सख्त दिशानिर्देशों के तहत जैव सुरक्षित माहौल में हुआ। फिलहाल चीन शंघाई और बीङ्क्षजग में कोविड-19 के मामलों को नियंत्रण में लाने का प्रयास कर रहा है। देश के वित्तीय केंद्र शंघाई में लगभग एक महीने से लॉकडाउन (लोगों के बाहर निकलने पर प्रतिबंध) लगा है, जबकि बीङ्क्षजग में इस महामारी के मामले बढऩे के बाद और अधिक प्रतिबंध लगाए गए हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.