Thursday, Feb 27, 2020
number-of-cricket-matches-increased-worldwide

ICC ने रिपोर्ट जारी कर दी जानकारी, दुनिया भर में क्रिकेट मैच की संख्या बढ़ी

  • Updated on 2/12/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने मंगलवार को 2019 के एसोसिएट सदस्यों से जुड़े आंकड़े जारी किए जो दर्शाते हैं कि दुनिया भर में क्रिकेट मैचों की संख्या में इजाफा हुआ है। आई.सी.सी. ने कहा कि सदस्य देशों के बीच 2018 में खेले गए सभी ट्वैंटी-20 मैचों को अंतर्राष्ट्रीय दर्जा देने के आईसीसी (ICC) बोर्ड के फैसले और इस प्रारूप में वैश्विक रैंकिंग शुरू करने से खेल पर बड़ा असर पड़ा है।

2018 की तुलना में 2019 में एसोसिएस्ट सदस्यों के बीच महिला द्विपक्षीय ट्वैंटी-20 मैचों में 110 प्रतिशत का इजाफा हुआ। पुरुष ट्वैंटी-20 (T20) मैचों में 34 प्रतिशत का इजाफा हुआ जिसमें 92 में से 71 एसोसिएट सदस्यों ने सबसे छोटे प्रारूप में मुकाबले खेले। 

विश्व कबड्डी चैम्पियनशिप के लिए बिना मंजूरी भारतीय टीम पहुंची पाकिस्तान

29 महिला टीमों ने ट्वैंटी-20में पदार्पण किया
49 पुरुष टीमों ने अपना पहला ट्वैंटी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला जबकि 29 महिला टीमों ने इस प्रारूप में पदार्पण किया। आई.सी.सी. के 50 लाख डालर से अधिक के निवेश से 2019 में 23 वैश्विक, क्षेत्रीय और उप क्षेत्रीय टूर्नामैंटों का आयोजन किया गया जिसमें 40 सदस्यों ने हिस्सा लिया और इससे खेल की प्रगति में मदद मिली। इन टूर्नामैंटों के कारण 3 एसोसिएट सदस्य 2020 में अपना पहला आई.सी.सी. विश्व कप (World Cup) खेलेंगे जबकि हाल में संपन्न अंडर-19 विश्व कप में जापान और नाइजीरिया ने हिस्सा लिया। इतिहास रचने वाला थाईलैंड इस महीने ऑस्ट्रेलिया में आई.सी.सी. महिला ट्वैंटी-20 विश्व कप में हिस्सा लेगा।  

INDvNZ 3rd ODI: न्यूजीलैंड ने किया 31 साल में पहली बार वनडे सीरीज में भारत का सूपड़ा साफ

महिला ट्वेंटी-20 विश्वकप में टी.वी. अंपायर देखेगा फ्रंट फुट नोबॉल
ऑस्ट्रेलिया में इसी महीने होने वाले आई.सी.सी. महिला ट्वैंटी-20 विश्वकप क्रिकेट टूर्नामैंट में टी.वी. अंपायर फ्रंट फुट नोबॉल का फैसला करेगा। महिला ट्वैंटी-20 विश्वकप 21 फरवरी से ऑस्ट्रेलिया (Australia) में खेला जाएगा जो 8 मार्च तक चलेगा। अी.सी.सी. ने बताया कि टी.वी. अंपायर (Umpire) हर गेंद पर गेंदबाज का फ्रंट फुट देखेंगे और नोबॉल होने पर मैदानी अंपायर को सूचित करेंगे।
 मैच के दौरान फ्रंट फुट नोबॉल पर कई बार विवाद हो चुका है। ऐसे में आई.सी.सी. ने विश्वकप को देखते हुए यह फैसला लिया है। आई.सी.सी. ने कहा कि इसे भारत और वैस्टटइंडीज (West Indies) के मैच में ट्रायल किया था और टी.वी. अंपायर ने सभी गेंदों पर फ्रंट फुट नोबॉल पर नजर रखी थी। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.