Wednesday, Jan 19, 2022
-->
200-crore-budget-for-electricity-wire-underground

हरिद्वार में कुंभ के पहले बिजली के सभी लाइनें हो जाएंगी भूमिगत, केंद्र ने जारी किया 200 करोड़

  • Updated on 2/2/2018

देहरादून/ब्यूरो। हरिद्वार आने वाले तीर्थयात्रियों और पर्यटकों के लिए एक अच्छी खबर है। आने वाले महीनों में बिजली के पोल्स पर तारों के जाल का जंजाल उन्हें देखने को नहीं मिलेगा। जिसके कारण वह खुले आकाश का नजारा ले सकेंगे। केंद्र सरकार ने सन 2021 में पड़ने वाले कुंभ की तैयारियों के लिए उत्तराखंड सरकार को बजट आवंटित करना शुरू कर दिया है।

बिजली के तारों को भूमि के अंदर करने के लिए 200 करोड़ रुपये का बजट खासतौर पर जारी किया गया है। भगवान शिव की नगरी काशी के बाद हरिद्वार दूसरा ऐसा तीर्थ स्थल बनने जा रहा है जहां बिजली के तारों को भूमिगत किया जाएगा। इसके साथ ही उत्तराखंड पावर कॉरपोरेशन को इंटरप्राइजेज रिसोर्स प्लान के क्रियान्वयन के लिए 21.78 करोड़ की स्वीकृतिप्रदान की गई है।

ऐसा होने से ऊर्जा निगम की विद्युत प्रणाली में सुधार होगा। फाल्ट्स और बिजली की चोरी पर काबू पाया जा सकेगा। इसका सीधा लाभ उपभोक्ताओं को भी मिलेगा। यह जानकारी प्रदेश के ऊर्जा सचिव दी है कि राज्य सरकार के आग्रह पर केंद्र ने यह स्वीकृति दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.