Saturday, Jul 21, 2018

CM खट्टर ने कहा- पंजाब के मुकाबले हरियाणा का ज्यादातर क्षेत्र डार्क जोन में

  • Updated on 7/11/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में भूजल स्तर 1500 फुट तक जा चुका है जबकि पंजाब का भूजल स्तर 200 से 250 फुट तक है। इसी प्रकार, हरियाणा का ज्यादातर क्षेत्र पंजाब के मुकाबले डार्क जोन में जा चुका है और हरियाणा को पानी की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मैंने पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरेंद्र सिंह को भी पाकिस्तान में जा रहे व्यर्थ पानी के प्रबंधन के लिए अनुरोध किया था, जिससे दोनों राज्यों पंजाब एवं हरियाणा के साथ-साथ दिल्ली व राजस्थान को भी अतिरिक्त पानी मिल सकता है।

मुख्यमंत्री ने यह बात आज यहां एक कार्यक्रम के दौरान ट्राई-सिटी अर्थात पंचकूला-चंडीगढ़- एस.ए.एस. नगर/मोहाली के योजनागत ढांचागत विकास को लेकर बुलाई गई पैनल चर्चा में कही। पंजाब को बड़े भाई का दर्जा देते हुए उन्होंने कहा कि पानी के प्रबंधन के लिए दोनों राज्यों पंजाब एवं हरियाणा को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि हांसी-बुटाना नहर से भी दक्षिण हरियाणा के क्षेत्रों को पानी दिया जा सकता है लेकिन पंजाब इस पर एतराज कर रहा है। 

पंजाब को नए चंडीगढ़ को राजधानी बनाने की सलाह दी

मुख्यमंत्री ने चंडीगढ़ पर हरियाणा का दावा करते हुए कहा कि पंजाब नया-चंडीगढ़ बसा रहा है और पंजाब को नया-चंडीगढ़ को अपनी राजधानी बना लेना चाहिए तथा चंडीगढ़ को हरियाणा के लिए छोड़ देना चाहिए।  

पंजाब विश्वविद्यालय में हरियाणा के कालेजों को भी दी जाए मान्यता

चंडीगढ़ स्थित पंजाब विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाने के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब विश्वविद्यालय एक प्रतिष्ठिïत विश्वविद्यालय है और इस विश्वविद्यालय में पहले हरियाणा का भी हिस्सा रहता था परंतु हरियाणा चाहता है कि इसमें हरियाणा को भी मिला लिया जाए और हरियाणा के कुछ कालेजों की मान्यता इस विश्वविद्यालय से दी जानी चाहिए। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.