Tuesday, Jun 28, 2022
-->
Aahar 2022 launched at Pragati Maidan, 15 countries are participating

प्रगति मैदान में आहार 2022 का हुआ शुभारंभ, 15 देश ले रहें हैं भाग

  • Updated on 4/26/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) द्वारा प्रगति मैदान में पांच दिवसीय आहार 2022 के 36वें संस्करण का शुभारंभ मंगलवार को केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने किया। इस दौरान आईटीपीओ के अध्यक्ष एलसी गोयल सहित अन्य उच्चाधिकारी व एग्जिबिटर भी मौजूद रहे। बता दें कि इस बार मेले में करीब 15 देश जिनमें जापान, यूएसए, यूके, डेनमार्क, जर्मनी, हांगकांग, इटली, इंडोनेशिया, इस्राइल, मलयेशिया, पेरू, रूस, सिंगापुर, स्पेन, तुर्की और यूएई भी भाग ले रहे हैं। मालूम हो कि आहार मेला खाद्य और आतिथ्य उद्योग के ब्रांडों के उत्पादों का प्रदर्शन करने के लिए लगाया जाता है जोकि बी2बी प्रोग्राम है। 
इग्नू के प्रोफेसरों को हनुमान जी की तरह नहीं है अपनी शक्तियों का आभास : प्रधान

प्रगति मैदान के गेट नंबर 10 व 4 से होगी इंट्री
आहार मेले की शुरूआत 26 अप्रैल से हो चुकी है, जिसका आयोजन 30 अप्रैल तक किया जाएगा। मेले में आने वालों को 300 रूपए की टिकट लेनी होगी और मेले का समय सुबह 10 से शाम 6 बजे तक का रखा गया है। मेले को देखने के इच्छुक लोगों को प्रगति मैदान के दो गेटों से प्रवेश दिया जाएगा, सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन के पास गेट नंबर 10 व भैरों मार्ग स्थित गेट नंबर 4। प्रगति मैदान की नवनिर्मित बिल्डि़ंग सहित पूराने हॉल्स में भी इसका आयोजन किया जा रहा है। इस मेले में कंपनियां आने वाले लोगों को अपने प्रोड्क्टस से रूबरू करवा रही है। यहां लाईव डेमो देने के साथ ही आप विभिन्न प्रोडक्ट्स का स्वाद तो चख ही सकते हैं बल्कि शेफ्स के बीच होने वाली प्रतियोगिताओं का आनंद भी ले सकते हैं।
एनआईओएस मुस्लिम मदरसों को स्टडी सेंटर भी बनाता है : शोएब रजा


नारेबाजी के बाद भाषण छोड़कर निकले गोयल
उद्घाटन सभा के दौरान जब केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल सभा को संबोधित कर रहे थे तभी एग्जिबिटर्स एकत्र होकर आए और जमकर नारेबाजी शुरू कर दी। वो आईटीपीओ प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। उनके नारेबाजी करने के बाद उन्हें समझाने के लिए आईटीपीओ के अध्यक्ष एलसी गोयल व अन्य उच्चाधिकारी सहित मंत्री ने भी प्रयास किया लेकिन वो नहीं माने। जिसके बाद पीयूष गोयल भाषण को बीच में ही छोड़ मंच से उतरकर वहां से चले गए। दरअसल एग्जिबिटर्स का कहना था कि हॉल में बुनियादी सुविधाओं का अभाव है, साफ-सफाई सहित बिजली, पानी व एयर कंडीशनिंग की व्यवस्था नहीं की गई है। हंगामे के बाद कर्मचारियों ने हॉलों में सफाई करना शुरू किया।

comments

.
.
.
.
.