Tuesday, May 24, 2022
-->
Accidents will be stopped in Burari Chowk and Gandhi Vihar, blackspots are re designed

बुराड़ी चौक और गांधी विहार में हादसों पर लगेगी रोक, ब्लैकस्पॉट हुए री डिजाइन

  • Updated on 3/23/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सेव लाइफ फाउंडेशन ने दिल्ली ट्रैफिक पुलिस व दिल्ली परिवहन निगम के साथ मिलकर बुधवार को बुराड़ी चौक और गांधी विहार ब्लैक स्पॉट पर टैक्टिकल अर्बनिज्म(सामरिक शहरीकरण) का परीक्षण किया है। ताकि यहां सडक़ सुरक्षा को मजबूत किया जा सके। बुराड़ी चौक और गांधी विहार ब्लैक स्पॉट्स पर क्रमश: 18 और 10 सडक़ हादसे 2018 से 2020 के दौरान हुए हैं।

डिसरप्टिव शिक्षण पद्धति से तेजी से सीख रहे बच्चे: सुनीता

दिल्ली सरकार व सेव लाइफ ने बुधवार को यहां टैक्टिकल अर्बनिज्म का परीक्षण किया
सामरिक शहरीकरण के इस्तेमाल के जरिए सडक़ में इंफ्रास्ट्रक्चरल बदलाव करके सभी सडक़ उपयोग कर्ताओं विशेषकर पैदल यात्री और साइकिल सवारों को सुरक्षित किया जा सकता है। यहां परीक्षण के सफल होने के बाद सरकारी एजेंसियां इसे हमेशा के लिए लागू कर सकती हैं। जीरो फैटलिटी कोरीडोर के हिस्सेदार के रूप में सेव लाइफ फाउंडेशन ने रोड की जियोमेट्रिक मॉडिफिकेशन, वाहनों की गति में कमी, पैदल चालक व साइकिल चालक सुरक्षा के लिए सडक़ का पुनर्वितरण जैसे उपाय किए गए हैं।

तनाव न लें छात्र, बोर्ड परीक्षा बड़ी है मगर आखिरी नहीं : डॉ. नंद कुमार

इससे पहले भलस्वा और राजघाट इंटरसेक्शन को री डिजाइन किया गया था 
परिवहन कमिश्नर दिल्ली आशीष कुंद्रा ने इस मौके पर कहा कि दिल्ली सरकार सडक़ पर होने वाली मौतों को रोकने के लिए सुरक्षित मोबिलिटी उपायों पर काम कर रही है। जिसमें हम सेव लाइफ के साथ मिलकर अत्यधिक हादसों के ब्लैक स्पॉट को चिन्हित कर री डिजाइन करते हैं। सेव लाइफ के सीईओ पीयूष तिवारी ने कहा कि ये तीसरा टैक्टिकल री डिजाइन परीक्षण है। इससे पहले हम भलस्वा और राजघाट इंटरसेक्शन को रि डिजाइन कर चुके हैं।

comments

.
.
.
.
.