Wednesday, Nov 30, 2022
-->
After dengue, the patient was suffering from black fungus, hospitalized

डेंगू बाद ब्लैक फंगस से ग्रस्त हुआ मरीज, अस्पताल में भर्ती

  • Updated on 11/6/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। जिले में एक बार फिर से ब्लैक फंगस ने दस्तक दे दी है। ब्लैक फंगस के मरीज की पुष्टि करीब एक साल बाद हुई है। मरीज को पहले डेंगू हुआ था, इससे निजात पाने के बाद ब्लैक फंगस पाया गया। मरीज के परिजनों ने उपचार के लिए जिले के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन, स्वास्थ्य में सुधार नहीं होने पर अब नोएडा के जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया, यहां आईसीयू में उपचार चल रहा है। 

जानकारी के अनुसार गाजियाबाद निवासी विमलेश शर्मा (50) डेंगू की चपेट में आए थे, डेंगू का उपचार कराने के बाद उन्हें नाक में दर्द रहने की समस्या हुई। इस पर उन्होंने नेहरू नगर के एक निजी अस्पताल में जांच करवाई। अस्पताल में जांच के बाद विमलेश में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई और उन्हें भर्ती कर उपचार शुरू कर दिया गया। लेकिन कई दिनों तक भर्ती रहने के बाद भी उन्हें कोई लाभ नहीं मिला। हालत और भी बिगड़ती चली गई।

जिसके बाद परिजनों ने गाजियाबाद के अलावा दिल्ली में कई डॉक्टरों से संपर्क किया। उपचार नहीं मिलने पर परिजनों ने विमलेश को नोएडा के जेपी अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां विमलेश आईसीयू में भर्ती हैं, जहां हालत चिंताजनक बनी हुई है। जिससे उनका ऑपरेशन नहीं हो पा रहा है। इसके बाद परिजनों ने गाजियाबाद में डॉ. बीपी त्यागी से भी संपर्क किया। डॉ. त्यागी ने बताया कि मरीज की स्थिति ऐसी नहीं है कि उनका ऑपरेशन किया जा सके।

आईसीयू से बाहर आने पर ही ऑपरेशन हो सकेगा। डॉ. त्यागी ने बताया कि मरीज डायबिटिक हैं, जिसके कारण वह ब्लैक फंगस की चपेट में आए हैं। हालंाकि यह पहला मामला है जब किसी मरीज को डेंगू के बाद ब्लैक फंगस हुआ हो। इससे पूर्व कोरोना को हराने वाले ही ब्लैक फंगस की चपेट में आए थे। लेकिन, स्वास्थ्य विभाग को इसकी जानकारी नहीं है। दरअसल जिला स्वास्थ्य विभाग को निजी अस्पताल द्वारा जानकारी नहीं दी गई। जबकि, कोरोना की तरह ब्लैक फंगस भी खतरनाक बीमारी है।
 

comments

.
.
.
.
.