Friday, Jul 23, 2021
-->
biggest-land-scam-of-jammu-and-kashmir-politicians-and-bureaucrats-govt-land-prsgnt

J-K के इतिहास में सबसे बड़ा रोशनी जमीन घोटाला, कांग्रेस-पीडीपी और NC नेताओं के नाम

  • Updated on 11/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू-कश्मीर के इतिहास में हुए सबसे बड़े जमीन घोटाले को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। इस जमीन घोटाले में कई पार्टी के नेताओं के शामिल होने की जानकारी मिली है। यह घोटाला 25 हजार करोड़ का बताया जा रहा है। इस सरकारी जमीं पर कब्जा करने वाले नेताओं और नौकरशाहों की लिस्ट एक निजी मीडिया चैनल के पास होने की खबर मिली है। 

बताया जा रहा है कि इस घोटाले में पीडीपी नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व वित्त मंत्री हसीब दरबो के के भी शामिल होने का दावा किया गया है। अपने पास लिस्ट होने का दावा करने वाला निजी चैनल इस बात की पुष्टि करता है कि मंत्री हसीब दरबो जमीन के खरीद फरोख्त में शामिल है। 

दिल्ली में फौरन लॉकडाउन लगाने की मांग करने वाली याचिका कोर्ट ने की नामंजूर 

यह भी दावा किया गया है कि इस लिस्ट में मंत्री हसीब दरबो की रिश्तेदार शहजादा बानो, एजाज हुसैन और इफ्तिकार दरबो के नाम भी शामिल हैं। इसके अलावा लिस्ट में कांग्रेस नेता केके अमला पर भी सरकारी जमीन के इस घोटाले में शामिल पाए गए हैं। इस लिस्ट के सामने आने के बाद अब इन सभी से जमीन वापस ली जाएगी।

बता दें कि 1999 के पहले जम्मू-कश्मीर में जो सरकारी जमीन थी उन्हें गरीब तमगे के लोगों को देने के लिए सरकार ने रोशनी एक्ट बनाया गया था। साथ ही इसका दूसरा उपयोग पॉवर प्रोजेक्ट के लिए पैसा जमा करना भी था ताकि उसका इस्तेमाल जम्मू-कश्मीर के पॉवर प्रोजेक्ट में किया जा सके। 

2022 के गोवा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ गठबंधन को तैयार जीएफपी

इसे विधिपूर्वक तरीके से 2001 में बनाया गया था लेकिन इसमें समय-समय पर संशोधन किया जाता रहा है। इस दौरान सरकारें बदलीं और सरकार में रहे राजनेताओं को फायदा उठाने का मौका दिया जाता रहा। इसमें लाभ लेने के लिए कई बिजनेसमैन और अफसरशाह भी शामिल रहे। इस बारे में राज्य के एलजी मनोज सिन्हा ने कहा था कि सभी से जमीन वापस ली जाएगी। यही कारण है कि अब इस मामले को फिर से उठाया गया है और अब इसके लिए ठोस कदम उठाए जा रहे हैं।

comments

.
.
.
.
.