Wednesday, Oct 27, 2021
-->
Delhi AAP government vision is to organize Olympic Games: Manish Sisodia rkdsnt

दिल्ली सरकार का विजन ओलंपिक खेलों का आयोजन करना है: सिसोदिया

  • Updated on 9/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार का विजन देश की आजादी की 100वीं वर्षगांठ से पहले राष्ट्रीय राजधानी में ओलंपिक खेलों का आयोजन करना है। सिसोदिया ने यह टिप्पणी दिल्ली खेल विश्वविद्यालय के प्रबंधन बोर्ड की पहली बैठक में की। उन्होंने कहा , 'दिल्ली खेल विश्वविद्यालय खेलों को लेकर ऐसा माहौल बनाएगा कि देश का हर व्यक्ति खेल को शिक्षा का क्षेत्र मानेगा। हमारा विजन देश की आजादी के 100वें वर्ष में जाने से पहले दिल्ली में ओलंपिक खेलों का आयोजन करना है और दिल्ली खेल विश्वविद्यालय इस विजन को पूरा करने में अहम भूमिका निभाएगा।’’ 

ABP Cvoter Survey : पंजाब में AAP आगे, यूपी में भाजपा को बढ़त

सिसोदिया ने कहा, Þइस विश्वविद्यालय को शुरू करने का हमारा उद्देश्य खेलों को शिक्षा का दर्जा देना है। हमारे खिलाड़ी बहुत मेहनत करते हैं लेकिन खेल में उनकी मेहनत को पढ़ाई के सामने शून्य माना जाता है। हमारे देश में कोई भी स्कूल या विश्वविद्यालय खेल को शिक्षा नहीं मानता है, लेकिन इस विश्वविद्यालय में ऐसा नहीं होगा। डीएसयू में खिलाडिय़ों का खेल उनकी शिक्षा होगी। डीएसयू पूरे भारत में ऐसा माहौल बनाएगा कि हर व्यक्ति कह सके कि खेलना भी एक तरह की पढ़ाई है।’’ 

नौकरी दिलाने के नाम पर BJP नेता पर पौने दो लाख रुपये लेने का आरोप, केस दर्ज

दिल्ली खेल विश्वविद्यालय की कुलपति कर्णम मल्लेश्वरी ने कहा, 'देश में खेल प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। एक खिलाड़ी को अपनी प्रतिभा को चमकाने और पदक जीतने के लिए बस थोड़े से समर्थन की जरूरत होती है। देश में खेल के बुनियादी ढांचे और कोचिंग की कमी है लेकिन दिल्ली खेल विश्वविद्यालय इन कमियों को दूर करेगा और खेलों के लिए विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचा तैयार करेगा।' उन्होंने कहा, 'विश्वविद्यालय भारत के किसी भी कोने से खेल प्रतिभाओं को प्रवेश देगा और उनके प्रदर्शन में सुधार के लिए काम करेगा ताकि वे ओलंपिक पदक विजेता और विश्व चैंपियन बन सकें।'

जलजमाव की स्थिति से निपटने के लिए गठित होगी विशेषज्ञ समिति 
दिल्ली में मॉनसून के दौरान जलजमाव की स्थिति के निपटने के लिए राज्य सरकार विशेषज्ञों की एक समिति का गठन करेगी तथा लघु एवं दीर्घ अवधि की योजनाएं तैयार करेगी। उप राज्यपाल अनिल बैजल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और लोक निर्माण कार्य मंत्री सत्येंद्र जैन एक बैठक में शामिल हुए जिसमें निर्णय लिया गया कि जिन क्षेत्रों को जलजमाव की समस्या का सामना करना पड़ता है, उनकी पहचान की जाएगी और सूक्ष्म स्तर पर कार्य किया जाएगा। 

मीडिया द्वारा खबरों को साम्प्रदायिकता का रंग देने पर SC ने जताई चिंता, मेहता से पूछे सवाल

सिसोदिया ने बैठक में कहा कि यदि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, लोक निर्माण विभाग और नगर निकाय समेत सभी एजेंसियां साथ मिलकर काम करें तो जलजमाव की समस्या का समाधान हो सकता है। उन्होंने कहा कि सभी संबंधित एजेंसियों के अधिकारियों की एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया जाएगा जो इस समस्या का समग्रता रूप से अध्ययन करेगी तथा इसके समाधान के लिए लघु एवं दीर्घ अवधि की योजनाएं बनाएगी।

सांप्रदायिक नारेबाजी मामला: कोर्ट ने पिंकी चौधरी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

 

 

 

comments

.
.
.
.
.