Monday, Nov 18, 2019
Delhi Air Pollution Supreme Court Chief Secretary Vijay Kumar Dev

प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों को 13 नवंबर तक बंद करने का आदेश

  • Updated on 11/9/2019

 नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) के मुख्य सचिव विजय कुमार देव (Vijay Kumar Dev) ने शुक्रवार को कार्यान्वयन एजेंसियों को प्रदूषण (Pollution) फैलाने वाले कारकों को नियंत्रित करने के निर्देश दिए। इसके तहत एजेंसियों को प्रमुख यातायात मार्गों से अतिक्रमण व मलबा हटाने और प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों को 13  नवंबर तक बंद करने को कहा गया है।

प्रधानमंत्री उदय योजना से चमकेगी दिल्ली: नरेंद्र मोदी

13 नवंबर तक हटाना होगा मलबा
उच्चतम न्यायालय
(Supreme Court) ने अपने हाल के आदेश में विभिन्न एजेंसियों से दिल्ली में प्रदूषण में योगदान करने वाले कारकों जैसे खुले में कूड़ा फेंकना, कचरा जलाना, खुदी हुई सड़कें,धूल और जाम को नियंत्रित करने को कहा था। इसके बाद यह निर्देश आया। न्यायालय द्वारा नियुक्त समिति से परामर्श के बाद देव ने दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए), लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी), दिल्ली राज्य औद्योगिक और अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड (डीएसआईआईडीसी),भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई), दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी), एनडीएमसी, सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग को सड़क के किनारे, खाली भूखंडों, नालियों और यमुना के डूब वाले इलाकों से 13 नवम्बर तक मलबा हटाने को कहा है।

अयोध्या विवाद: आज दिल्ली, नोएडा-गाजियाबाद के स्कूल रहेंगे बंद

पुलिस अवैध पार्किंग,फेरीवालों और अतिक्रमण करने वालों पर लगाए लगाम
सभी एजेंसियों को दिए गए आदेश में मुख्य सचिव ने हर काम के लिए जिम्मेदार अधिकारी को भी निर्दिष्ट किया है। आदेश में कहा गया कि अनुपालन न होने की स्थिति में, विभागाध्यक्ष/नोडल अधिकारी को व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार माना जाएगा और उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी। आदेश के मुताबिक देव ने दिल्ली पुलिस से कहा है कि वह यातायात के लिहाज से प्रमुख मार्गों पर अवैध पार्किंग,फेरीवालों और अतिक्रमण करने वालों पर लगाम लगाए।

अयोध्या केस में आज फैसले की घड़ी, 10:30 पर सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा ऐतिहासिक फैसला

मुख्य सचिव ने प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों को बंद कराने को कहा
मुख्य सचिव ने दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति से प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों को बंद कराने को कहा है। देव ने उद्योग विभाग और नगर निगमों को निर्देश दिया के वे गैर अनुरूप क्षेत्रों में चल रहे उद्योगों को बंद करें। इसके साथ ही विद्युत वितरण कंपनियों (डिस्कॉम्स) व जल बोर्ड को उनकी बिजली और पानी की आपुर्ति बंद करने को कहा है।

सोनिया गांधी बोलीं- मोदी सरकार के नोटबंदी के ‘तुगलकी फरमान’ को नहीं भूलने देंगे

सड़कों को सुधारने तथा धूल न उड़े ऐसे उपाय करने के दिए निर्देश
देव ने नगर निगमों, पीडब्ल्यूडी और डीएसआईआईडीसी को भी सड़कों को सुधारने तथा धूल न उड़े ऐसे उपाय करने के निर्देश दिए हैं। मुख्य सचिव ने शहजहानाबाद पुर्निवकास क्षेत्र को धूल के प्रदूषण को रोकने के लिए विशेष उपाय अपनाने को कहा है। मंडल आयुक्तों से प्रवर्तन दलों की सहायता के लिए 700 सिविल डिफेंस कर्मियों और पर्यावरण मार्शलों की तैनाती के लिए कहा था। 

comments

.
.
.
.
.