Wednesday, Aug 10, 2022
-->
Fake placement agency opened, unemployed people used to cheat on the pretext of job

फर्जी प्लेसमेंट एजेंसी खोल, बेरोजगारों नौकरी का झांसा देकर करते थे ठगी

  • Updated on 6/26/2022


- ढाई सौ से अधिक बेरोजगारों से कर चुके हैं 23 लाख से अधिक की ठगी
- द्वारका साइबर पुलिस ने चार लड़कियों सहित सात को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।


 द्वारका जिले की साइबर थाना पुलिस टीम ने एक फर्जी प्लेसमेंट एजेंसी का भंडाफोड़ किया है। पुलिस टीम ने शाइन डॉट कॉम नामक प्लेसमेंट एजेंसी चला रहे आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें चार लड़कियां हैं। ये लोग बेरोजगार युवाओं को नौकरी दिलाने का झांसा देकर एजेंसी में रजिस्ट्रेशन फीस के नाम पर मोटी वसूलते थे। इसके बाद उन युवाओं को फर्जी जॉब लेटर थमा दिया जाता था। जांच में पता चला कि ढाई सौ लोगों से 23 लाख रुपये की ठगी कर चुके हैं। गिरफ्तार आरोपी करण कुमार, रोहित कश्यप, स्वीटी शर्मा, यसमीन, अंचल, प्रीति व मुस्कान सिंह के पास से 16 मोबाइल, दो लैपटॉप, कई फर्जी अपॉइंटमेंट लेटर बरामद हुए हैं।
डीसीपी एम हर्षवर्धन ने बताया कि एक महिला ने साइबर थाने में ठगी की शिकायत दी थी। पीड़िता ने बताया था कि उन्हें एक मुस्कान नामक महिला ने फोन कर उन्हें भीकाजी कामा प्लेस स्थित शाइन डॉट कॉम के दफ्तर में बुलाया था। उन लोगों ने रजिस्ट्रेशन के तौर पर गूगल पे के माध्यम से  3500 व 8500 रुपये लिए थे। इसके बाद उन्हें सनशाइन एचआर ग्लोबल सर्विस के नाम से एक अप्वाइंटमेंट लेटर भी दिया था। पर जिस निजी कंपनी का अप्वाइंटमेंट लेटर उन्हें दिया गया था, जब वह वहां पहुंची तो वह फर्जी निकला। इसके बाद महिला ने इसकी शिकायत पुलिस में की। शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एसीपी विजय सिंह के निरीक्षण और एसएचओ साइबर जगदीश कुमार के नेतृत्व में एक टीम ने जांच शुरू की। जांच के दौरान टीम ने मोबाइल नंबर की जांच की। इसके बाद पुलिस ने भीकाजी कामा प्लेस स्थित उक्त एजेंसी में छापेमारी की। इस दौरान शनसाइन एचआर ग्लोबल सर्विस के नाम से चल रहे इस फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए सात को गिरफ्तार किया।
 

comments

.
.
.
.
.