Wednesday, Jul 06, 2022
-->
Farmers will demonstrate at district headquarters

जिलामुख्यालय पर किसान करेंगे प्रदर्शन, सोमवार को सौंपेगे राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन

  • Updated on 3/20/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए संयुक्त किसान मोर्चा फिर से सरकार को घेरने की योजना बना चुकी है। जिसका शंखनाद सोमवार से होगा। सोमवार को किसान मोर्चा वादा खिलाफी दिवस मनाएगा। भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष चौधरी विजेन्द्र सिंह ने बताया कि सोमवार करीब 12 बजे किसानों का प्रतिनिधि मंडल जिला मुख्यालय पहुंचेगा और राष्ट्रपति के नाम जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपेगा। पूरे प्रदेश में हर जिला मुख्यालय पर किसान ज्ञापन सौपेंगे। 

मोर्चा के राष्ट्रीय नेता जगतार सिंह बाजवा ने बताया कि दिल्ली में चले किसान आंदोलन को खत्म कराते समय तीनों कृषि कानूनों की वापसी के साथ जुड़ी अन्य मांगों को लेकर जो वादे भारत सरकार ने देश के किसानों के साथ किए थे उनको अभी तक पूरा नहीं किया गया है। 14 मार्च को दिल्ली में हुई संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में उन सभी वादों की समीक्षा की गई। जिसमे तय हुआ कि अभी तक सरकार ने किसानों पर दर्ज मुकदमों को पूर्णता वापस नहीं लिया गया, एमएसपी पर गारंटी के संबंध में कमेटी का गठन नहीं किया गया, लखीमपुर खीरी कांड के दौरान जो वादा शासन प्रशासन ने किया उसको पूरा नहीं किया गया। इसके साथ ही जो अन्य मांगे थी उन पर अभी तक कोई भी प्रभावी कदम भारत सरकार द्वारा नहीं उठाया गया है।

यदि सरकार अपने वादों पर पूरी नहीं उतरती तो भविष्य में संयुक्त किसान मोर्चा फिर से आंदोलन करने के लिए विवश होगा। 11 से 17 अप्रैल तक एमएसपी अधिकार सप्ताह के रूप में भी मनाया जाएगा। जिसमें देशभर में किसानों को फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी के प्रति जागरूक किया जाएगा व सरकार के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा।
 

comments

.
.
.
.
.