Tuesday, May 17, 2022
-->
hours-of-work-will-be-done-in-minutes-at-igi-airport

IGI एयरपोर्ट पर अब घंटों का काम होगा मिनटों में, गृह मंत्रालय ने लिया ये फैसला

  • Updated on 1/24/2018

नई दिल्ली/ब्यूरो। अब इमीग्रेशन पर यात्रियों को घंटों कतार में नहीं लगना पड़ेगा, यही नहीं सिक्योरिटी चैकिंग में अब ज्यादा समय नहीं लगेगा। इसके लिए इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर 1000 नए अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी। ये नियुक्ति फिलहाल संविदा पर होगी। गृह मंत्रालय ने इसकी मंजूरी दे दी है।

AAP के 20 अयोग्य ठहराए गए विधायकों की याचिका पर आज HC में होगी सुनवाई

बताया जाता है कि हाल के दिनों में देखा गया है आईजीआई एयरपोर्ट पर यात्रियों को इमीग्रेशन कराने में एक से डेढ़ घंटे का समय लगता है। यही नहीं, जब कोई विदेशी इमीग्रेशन पर वीजा की औपचारिकता को करता है तो उसे औसतन दो घंटे लगते हैं। ऐसे में कई दिक्कतें पेश आती हैं। इसलिए गृह मंत्रालय ने डायल की सिफारिश पर ये निर्णय लिया है।

अधिकारी ने बताया कि अतिरिक्त कर्मचारियों की भर्ती से इमिग्रेशन काउंटरों पर कर्मचारियों की मौजूदगी बढ़ाने में मदद मिलेगी। यह स्टाफ यात्रियों को पेशेवर सेवा उपलब्ध कराने में सक्षम होगा। हालांकि, उन्होंने नियुक्ति की इस प्रक्रिया को शुरू करने के साथ ही इसे पूरा कर लिए जाने के समय सीमा के संबंध में कोई जानकारी नहीं दी है। 

ये होंगे बदलाव

- इमीग्रेशन काऊंटर 26 की जगह 48 होंगे

- सीआईएसएफ के सिक्योरिटी चेक काऊंटर बढ़ाए जाएंगे

-  मार्च तक की जाएगी नियुक्ति

- डेढ़ घंटे की सीमा को 5 मिनट करने का है अनुमान 

- रात 1 बजे से सुबह 8 बजे काऊंटर किसी भी समय नहीं रहेगा खाली

-सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक कुछ काऊंटर रहेंगे बंद

सिक्योरिटी चेक इन का एक पैनल खराब

मौजूदा समय में इमीग्रेशन से ज्यादा समय सीआईएसएफ की सिक्योरिटी चेकिंग में लग रहा है। बताया जाता है कि सीआईएसएफ की सिक्योरिटी चेक इन काऊंटर का एक हिस्से में काम चल रहा है जिसके कारण करीब 6 गेट पूरी तरह से बंद हैं। इसके चलते मौजूदा व्यस्तम समय में एक व्यक्ति को सीआईएसएफ की सिक्योरिटी चेक इन करने में 1 घंटे से डेढ़ घंटे का समय लग रहा है।

जब रनवे पर फिसलते हुए समुद्र में गिरने लगा प्लेन, वायरल हो रही PHOTO

इन पदों को मंजूरी

गृह मंत्रालय के मुताबिक 350 श्रेणी के पदों को निम्न श्रेणी में बदलने को भी मंजूरी दी गई है। इससे गुप्तचर ब्यूरो और केंद्रीय सशस्त्र बल के पूर्व कर्मचारियों की ठेका आधार पर नियुक्ति की जा सकेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.