Monday, Oct 03, 2022
-->
Inflation hit on green vegetables

हरी सब्जियों पर महंगाई की मार

  • Updated on 7/19/2022

नई दिल्ली। अनामिका सिंह। कई राज्यों में भारी बारिश व बाढ़ की स्थिति बन गई है। खासकर ये वो राज्य हैं जोकि सब्जियों के उत्पादन में अग्रणी माने जाते हैं। लगातार होने वाली बरसात व जलजमाव के चलते मंडियों में सब्जियों की आवक प्रभावित हो रही है। जिसके चलते एशिया की सबसे बड़ी फल-सब्जी मंडी आजादपुर में हरी सब्जियों के दामों में काफी उछाल देखने को मिल रहा है। 15 दिन पहले जो आवक थी, उससे आवक काफी कम हो गई है। महंगाई का असर इतना कि आप हरी सब्जी तो छोडि़ए चटनी खाने में भी परहेज करने लगेंगे क्योंकि धनिया-मिर्च के दाम भी आसमान छू रहे हैं।
सावन में व्रतधारियों को नहीं देंगे होंगे फल के ज्यादा दाम

15 दिनों में आवक और दामों में भारी कमी
बता दें कि 15 दिन पहले थोक दाम में धनिया की पत्ती का दाम 37.50 रूपए प्रतिकिलो था क्योंकि आवक 102.6 टन थी। अब धनिया की आवक घटकर 30.9 टन रह गई है, जिसकी वजह से धनिया की पत्ती के वर्तमान थोक दाम 58.80 रूपए प्रतिकिलो तक जा पहुंचे हैं। बात यदि हरी मिर्च की करें तो 15 दिन पहले इसकी आवक 138.3 टन थी और दाम 20 रूपए प्रतिकिलो थे लेकिन वर्तमान में आवक बढ़कर 182.5 टन हो गई है बावजूद इसके दाम बढ़कर 25.5 रूपए प्रतिकिलो पहुंच गए हैं। ऐसे में चटनी बनाने के लिए सिर्फ टमाटर ही एकमात्र सस्ता है। टमाटर की आवक 15 दिन पहले तक 518.5 टन थी और थोक दाम 23 रूपए प्रतिकिलो थे जोकि अब आवक 692.1 टन होने के बाद 15.30 रूपए प्रतिकिलो है। यानि चटनी तो नहीं लेकिन आप टमाटर का सलाद जरूर खा सकेंगे। हरी सब्जियों में सिर्फ बिन्स के दाम घटे हैं जबकि आवक भी हल्की कम हुई है। 15 दिन पहले बिन्स की आवक 37.8 टन थी और दाम 60 रूपए था जोकि अब घटकर आवक 37.4 टन व आवक 57.5 रूपए प्रतिकिलो जा पहुंचा है।
गर्भवती महिला को सफदरजंग अस्पताल ने भर्ती करने से किया मना, डीसीडब्ल्यू ने भेजा नोटिस

एक बार दोबारा बढ़ रहे हैं नींबू के दाम
हाल ही में 200-250 रूपए प्रतिकिलो के दाम पार करने की वजह से नींबू काफी चर्चा का विषय बना रहा था, उस पर सोशल मीडिया में काफी मिम्स भी बनाई गई थी। जिसके बाद आजादपुर मंडी में नींबू की आवक बढ़ी और दाम घट गए थे। लेकिन दोबारा नींबू के दामों में तेजी देखने को मिल रही है। 15 दिन पहले तक आजादपुर मंडी में नींबू की आवक 336.3 टन थी और थोक दाम 30 रूपए प्रतिकिलो था। लेकिन वर्तमान में नींबू की आवक 317.4 टन तक जा पहुंची है, जिससे नींबू के थोक दामों में 10 रूपए का इजाफा हो गया है, फिलहाल नींबू का दाम 40 रूपए प्रतिकिलो है।
एनसीपीसीआर के चेयरमैन ने मौके पर पहुंचकर झारखंड से लाईं गईं बच्चियों को रेस्क्यू करवाया

होटल इंडस्ट्री ने बढ़ाए पत्तागोभी के दाम
रेस्टोरेंट व होटलों में लोग चाइनीज फूड खाना काफी पसंद करते हैं। चाइनीज फूड का आधार पत्तागोभी होता है। चाहे वो मंचूरियन हो, नूडल्स हों या फिर चाउमीन। इस समय होटल इंडस्ट्री का काम काफी अच्छा चल रहा है और लोग ऑनलाइन भी जमकर फूड ऑर्डर कर रहे हैं। जिसका असर पत्तागोभी के दामों पर भी देखने को मिल रहा है। 15 दिन पहले जब गोभी की आवक 59 टन प्रतिदिन थी तो दाम 10 रूपए किलो थे लेकिन अब पत्तागोभी की आवक 50.3 टन जा पहुंची है जिसकी वजह से थोक दाम बढ़कर 17 रूपए प्रतिकिलो जा पहुंचे हैं। 


हरी सब्जियों    वर्तमान आवक(टन)    वर्तमान दाम(प्रतिकिलो) 15 दिन पहले आवक(टन)   15 दिन पहले दाम 
गोभी               275.6                       35                             244.7                             30.5
खीरा               294.6                        20.3                          308.6                             15.8
लौकी              99.6                          20.5                           30.4                               8.5
भिंडी              94.4                           20                              57.5                               16
मटर              21.1                            70                             87.2                                40
सीताफल        66.7                            10                             44.1                                 9
मूली              10.4                            12                             23.9                               10.80
पालक            30                                11.5                          33.5                               10
तोरई             62.9                              20                             81.3                               10.5
    

comments

.
.
.
.
.