Wednesday, Jun 16, 2021
-->
modi-cabinet-meeting-sugarcane-farmers-airports-leasing-national-recruitment-agency-prsgnt

सरकार ने और 6 एयरपोर्ट का Management प्राइवेट हाथों में दिया, CET कराएगी NRA

  • Updated on 8/19/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मोदी सरकार ने बुधवार को हुई कैबिनेट मीटिंग में कई बड़े फैसले लिए हैं। भारत के 6 और एयरपोर्ट्स का प्रबंध और ऑपरेशन प्राइवेट प्लेयर को दे दिया गया है। साथ ही राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) को अधीनस्थ पदों के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (CET) आयोजित करने का अधिकार दे दिया है।

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि युवाओं की ये मांग वर्षों से थी। लेकिन अबतक इसपर फैसला नहीं लिया गया था। इस एक फैसले से युवाओं की तकलीफ भी दूर होगी और उनका पैसा भी बचेगा। 

युवाओं को मिलेगा रोजगार
वहीँ, कैबिनेट के इन फैसलों पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि युवाओं को आज नौकरी के लिए कई एग्जाम देने पड़ते हैं यही सब खत्म करने के लिए एनआरए अब सीईटी एग्जाम आयोजित किये जाएंगे। इससे युवाओं का लाभ होना होगा। 

जावड़ेकर ने कहा है कि देश में तकरीबन 20 रिक्रूटमेंट एजेंसी हैं अब ये सब समाप्त होगा और ये बड़ा ऐतिहासिक फैसला है जिससे करोड़ो युवाओं को नौकरी मिलने में सहायता मिलेगी।

किसानों को होगो बड़ा फायदा
वहीँ, एक दूसरे फैसले के बारे में जानकारी देते हुए प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कैबिनेट ने एक करोड़ गन्ना किसानों के लिए भी बड़ा फैसला लिया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार ने अब लाभकारी मूल्य बढ़ा दिया है। 

प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि अब 285 रुपये प्रति क्विंटल का दाम तय किया गया है। ये दाम 10% रिकवरी के आधार पर होगा अगर 11% रिकवरी होती है तो 28 रुपये 50 पैसे प्रति क्विंटल पर ज्यादा मिलेंगे। इस फैसले से एक करोड़ से ज्यादा किसानों को फायदा होगा।

एयरपोर्ट पर लिए फैसले
वहीँ, प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि एयरपोर्ट्स के लिए 1 हजार 70 करोड़ देने का फैसला लिया गया है। ये पैसा छोटे शहरों में एयरपोर्ट के विकास करने के उपयोग में लाया जाएगा। इसकी देखरेख एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया करेगी जिससे यात्रियों को अच्छी सुविधा मिल सकेगी। 

प्रकाश जावड़ेकर ने ये भी बताया कि एयरपोर्ट्स को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया पूरी तरह से निजी कंपनी को नहीं देगी. एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को ये एयरपोर्ट 50 साल तक चलने के बाद वापस मिल जाएंगे।

comments

.
.
.
.
.