Saturday, May 15, 2021
-->
National Adarsh School New Education Policy Education Ministry KMBSNT

देशभर में बनेंगे ऐसे आदर्श स्कूल जो प्राइवेट स्कूलों को भी देंगे मात, जानें क्या होंगी सुविधाएं

  • Updated on 2/25/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। इस साल के बजट में केंद्र सरकार ने आदर्श स्कूलों (Adrash School) को बनाने के लिए भी फंड दिया है। ऐसे में शिक्षा मंत्रालय की ओर से पूरी कोशिश की जा रही है कि साल 2024 तक देश के हर ब्लॉक में शानदार आदर्श स्कूल तैयार हो जाएं। ये स्कूल इस प्रकार बनाए जाएंगे की ये प्रवाइवेट स्कूलों को भी मात देंगे। 

बजट में देशभर में 15 हजार से अधिक आदर्श स्कूल बनाने की घोषणा वित्त मंत्री द्वारा की गई है। अब शिक्षा मंत्रालय जल्द ही इनके निर्माण को लेकर योजना बनाने जा रहा है। इन स्कूलों का चयन राज्यों के साथ मिलकर किया जाएगा। इस योजाना पर करीब 5 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। 

DU Exam 2021: 28 फरवरी तक भर सकेंगे परीक्षा फॉर्म, नोटिफिकेशन जारी

कुल 15552 स्कूल होंगे विकसित 
शिक्षा मंत्रालय के अनुसार आदर्श स्कूल योजना के तहत देशभर में कुल 15552 स्कूलों को विकसित किया जाएगा। प्रत्येग ब्लॉक में एक प्री-प्राइमरी और एक प्राइमरी स्कूल शामिल होगा। वहीं प्रत्येक जिले में एक माध्यमिक औऱ एक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय होगा। 

नई शिक्षा नीति होगी इन स्कूलों में लागू
खास बात ये है कि इन स्कूलों को नई शिक्षा नीति के तहत बनाया जाएगा। यहां पर जल्द ही नई शिक्षा नीति लागू की जाएगी। ताकी अन्य स्कूलों में भी इसका अनुसरण कराया जा सके। नई शिक्षा नीति के तहत इन स्कूलों में गणित , विज्ञान जैसे विषय की पढ़ाई स्थानीय भाषाओं में कराई जाएगी। हालांकि राज्यों के पास इसके लिए निर्णय लेने की शक्ति होगी, लेकिन केंद्र भी पूरी नजर रखेगा। 

दिल्ली शिक्षा निदेशक ने बच्चों से कहा- उत्तर नहीं आता तो कुछ भी लिख दो नंबर मिलेंगे, वीडियो वायरल

हर सुविधा से लैस होंगे आदर्श स्कूल
आदर्श स्कूलों का जो खाका तैयार किया गया है उसके अनुसार ये स्कूल सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस होंगे। इनमें स्मार्ट क्लासरूम, पुस्तकालय, कौशल लैब, प्ले ग्राउंड, कंप्यूटर लैब, साइंस लैब आदि सभी सुविधाएं होंगी। छात्रों और शिक्षकों के बीच अनुपात का भी ध्यान रखा जाएगा। 30 छात्रों के लिए एक शिक्षक होगा। इसके अलावा हर स्कूल में विज्ञान, भाषा, खेल, कला, संगीत और व्यवसायिक शिक्षा आदि के शिक्षक या परामर्शदाता होंगे। 

ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.