Tuesday, Oct 04, 2022
-->
Navratri 2020 Do Worship To Get Child

Navratri 2020: स्कंदमाता की पूजा से मिटेगा संतान रोग, इस तरह माता को करे खुश

  • Updated on 3/29/2020

नई दिल्ली /टीम डिजिटल। देशभर में  नवरात्रि (Navratri) का पवित्र पर्व मनाया जा रहा है। आज नवरात्र का पांचवां दिन है। इस दिन को मां संकदमाता के रुप में मनाते है। कई लोग इनको पद्मासना देवी के रुप में भी मानते है।ep

 

भारत में लॉकडाउन: PM नरेंद्र मोदी बोले- कोरोना वीरों के लिए मां से करूंगा प्रार्थना

माता कि पूजा से जूड़ा है भगवान कार्तिकेय का राज
आपको बता दें कि भगवान शिव (Shiv) के पुत्र कार्तिकेय मां स्कंदमाता के गोद  में बैठे हुए है। कहा जाता है कि मां कि पूजा करने से भगवान कार्तिकेय की पूजा स्वयं हो जाती है। तंत्र साधना में माता का सम्बन्ध विशुद्ध चक्र माना जाता है। ज्योतिष में इनका सम्बन्ध बृहस्पति ग्रह नाम से जाना जाता है।

Chaitra Navratri 2020 इस बार होगा बड़ा खास, बन रहे हैं बेहतरीन ग्रह योग

किस तरह स्कंदमाता की पूजा करें

  • माना जाता है कि स्कंदमाता की पूजा करने से संतान की प्राप्ति होती है।
  • अगर संतान की तरफ से आपको कोई कष्ट हो तो माता कि पूजा करने से उसका अंत होता है।
  • स्कंदमाता को पीला रंग बहुत पसंद है। माता को खुश करने के लिए आप पीले फूल अर्पित करें और पीली चीजो का भोग लगाए।
  • अगर भक्त पीले वस्त्र धारण किएं जाएं तो पूजा के परिणाम अति शुभ होंगे।
  • इसके बाद जो भी प्रार्थना है, विशेषकर संतान सम्बन्धी, करें।

जानें कब है गुप्त नवरात्रि, जब 30 साल बाद शनि अपनी मकर राशि में रहेगा

 

जानें नवरात्रि के नियम क्या हैं?  

  • नवरात्रि के समय घर में भजन पाठ करना चाहिए।
  • नवरात्रि के अवसर पर खान पान में फल का इस्तेमाल करे
  • याद रहे कलश पर नारियल रखें और मिट्टी लगाकर जौ बोएं
  • कलश के पास आप अखंड दीपक जरूर रखे।
  • नवरात्रि में उपवास पूरे होने पर कंचक बठाए, जिसमें नौं कन्या को पूजा जाता है।
  • नवरात्रि के आखरी दिन हलवा, पूरी और चना का भोग लगाया जाता है।
  • नवरात्रि के अवसर पर माता के मंदिर पर दर्शन करना शुभ माना जाता है।
  • कहा जाता है कि नवरात्रि के दौरान जीवन के समस्त भागों और समस्याओं पर नियंत्रण किया जा सकता है।
comments

.
.
.
.
.