Tuesday, Oct 04, 2022
-->
Nigerians were living on the basis of fake documents

फर्जी दस्तावेज के आधार पर रह रहे थे नाइजीरियाई किए गए डिपोर्ट

  • Updated on 7/30/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।

द्वारका जिला पुलिस की ओर से इलाके में रहे वाले विदेशी नागरिकों की जांच का अभियान लगातार जारी है। इसी के तहत मोहन गार्डन थाना पुलिस ने इलाके में चलाए गए जांच के दौरान तीन नाइजीरियाई नागरिक को फर्जी दस्तावेज के साथ पकड़ा है। पकड़े गए सी माइकल, एडा ओय और फेवोर लकी से पूछताछ के बाद डिपोर्ट की प्रक्रिया के लिए डिटेंशन सेंटर भेज दिया है।

डीसीपी एम. हर्षवर्धन ने बताया कि एसीपी नजफगढ, जितेंद्र पटेल और एसएचओ मोहन गार्डन नार सिंह की देखरेख में हेड कॉन्स्टेबल दिनेश कुमार, अजित सिंह और महिला हेड कॉन्स्टेबल सपीन की टीम ने अपने नियमित गश्त अभियान के दौरान इन्हें पकड़ा है। पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ विदेशी इलाके में अवैध रूप से रह रहे हैं। सूचना के आधार पर टीम ने इलाके में पहुंच वहां रहने वाले विदेशी नागरिकों के दस्तावेजों की जांच की। जांच के दौरान इन तीनों के पास से एक्सपायर हो चुका वीजा मिला। यहां रहने के लिए उनके पास कुछ दस्तावेज मिले पर वह फर्जी थे। इनके बाद ओवर स्टेइंग को ले कर भी वो कोई सपोर्टिव डाक्यूमेंट्स नहीं दे पाये। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। पुलिस ने आगे की कार्रवाई करते हुए सभी को एफआरआरओ के समक्ष प्रस्तुत कर दिया। जहां से उसे डिपोर्ट करने के लिए डिटेंशन सेंटर भेज दिया गया है।
-

comments

.
.
.
.
.