Wednesday, Jun 29, 2022
-->
PM Modi ahead of 8th anniversary of govt says ''worked for poor, balanced development'' KMBSNT

मोदी सरकार की 8वीं वर्षगांठ से पहले बोले PM- संतुलित विकास और गरीबों के लिए समर्पित है केंद्र

  • Updated on 5/20/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मोदी सरकार की 8वीं वर्षगांठ से पहेल आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी की राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में कहा कि केंद्र सरकार गरीबों, समाज कल्याण और संतुलित विकास के लिए समर्पित है। उन्होंने बीजेपी नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमें कभी कोई शॉर्ट-कट नहीं लेना है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमें देशहित से जुड़े जो भी बुनियादी विषय हैं, जो Core-Issues हैं उन्हीं पर आगे बढ़ना है। और ये Core-Issues क्या हैं? गरीब का कल्याण, गरीब का जीवन आसान बनाने के लिए, गरीब को सशक्त करने के लिए हमें लगातार काम करना है।

पीएम मोदी ने कहा कि हम देख रहे हैं कि आज कुछ पार्टियों का इकोसिस्टम पूरी शक्ति से देश को मुख्य मुद्दों को भटकाने में लगा हुआ है। हमें कभी ऐसी पार्टियों के जाल में नहीं फंसना है। आजादी के बाद से ही वंशवाद और परिवार वाद ने देश का कितना भयंकर नुकसान किया है। परिवारवादी पार्टियों ने देश में भ्रष्टाचार को, धांधली को, भाई-भतीजा वाद को, इसी को आधार बनाकर देश का बहुत मूल्यवान समय बर्बाद किया है।

पीएम मोदी ने कहा कि जिस एक और विषय पर हमें निरंतर काम करते रहना है वो है देश में विकास वाद की राजनीति की चौतरफा, चारो दिशा में स्थापना होनी चाहिए। कोई भी दल हो, उसको भी विकासवाद की राजनीति पर आने के लिए मजबूर करना है।

 

पीएम मोदी ने कहा कि आज गरीब से गरीब भी अपने आसपास लोगों को योजनाओं का लाभ मिलते देख रहा है। वो आज बहुत विश्वास से कहता है कि एक न एक दिन मुझे भी इस योजना का लाभ अवश्य मिलेगा। नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी में स्थानीय भाषाओं को प्राथमिकता देना, हर क्षेत्रीय भाषा के प्रति हमारे कमिटमेंट को दिखाता है। भाजपा, भारतीय भाषाओं को भारतीयता की आत्मा मानती है और राष्ट्र के बेहतर भविष्य की कड़ी मानती है।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं आज के युवाओं की भाषा में कहूं, तो जो भारत के समृद्ध भविष्य के code लिखने के लिए लालायित हैं, ऐसे हर युवा को हमें भाजपा के साथ जोड़ना है। हमें ये याद रखना है कि परिवारवाद की राजनीति से विश्वासघात खाने वाले देश के युवाओं का विश्वास सिर्फ भाजपा ही लौटा सकती है।

comments

.
.
.
.
.