Friday, Jun 18, 2021
-->
Woman gets new life in Rishikesh AIIMS with the help of Sonu Sood sohsnt

अभिनेता सोनू सूद की मदद से महिला को ऋषिकेश एम्स में मिली नई जिंदगी

  • Updated on 9/23/2020

ऋषिकेश/ ब्यूरो। पूरे कोरोना काल में हजारों लोगों के लिए उम्मीद की किरण बनकर उभरे बॉलीवुड (Bolywod) अभिनेता सोनू सूद (Sonu sood) अब भी लोगों के दु:ख-दर्द को कम करने के लिए आगे आ रहे हैं। सोनू ने इस बार अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ऋषिकेश (rishikesh) की मदद से बिहार की एक 26 वर्षीय महिला को नया जीवन दिलवाया।

सोनू सूद के नाम पर हो रही है धोखाधड़ी, कहीं आप भी तो नहीं हो रहे इसका शिकार!

पेट का सफल ऑपरेशन कर ट्यूमर निकाला
एम्स के चिकित्सकों ने बीते डेढ़ साल से पेट में तेज दर्द और उल्टी की गंभीर समस्या से ग्रस्त महिला के पेट का सफल ऑपरेशन कर ट्यूमर निकाला। बिहार के आरा जिला निवासी महिला को पेट में अत्यधिक दर्द की शिकायत थी। महिला का पहले एम्स पटना और उसके बाद दिल्ली एम्स में सघन स्वास्थ्य परीक्षण किया गया, जिसमें चिकित्सकों ने पाया कि उसके के पेिन्क्रयाज में काफी बड़े आकार का ट्यूमर बन चुका है। इसकी वजह से उक्त महिला को पिछले डेढ़ साल से लगातार पेट में असहनीय दर्द की शिकायत रहने लगी थी।

अपने Birthday पर सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों को दिया Gift, 3 लाख नौकरी देने का किया ऐलान

परिजनों ने अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगी
इसके अलावा वह लगातार उल्टी होने की समस्या से भी ग्रसित थी। महिला के परिजनों ने अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगी। गंभीर बीमारी के बावजूद पटना और दिल्ली एम्स में महिला के उपचार में हो रहे विलंब के चलते एक्टर सोनू सूद ने उसके त्वरित इलाज के लिए ऋषिकेश एम्स से संपर्क साधा। जहां विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने महिला रोगी की गहनता से जांच की। उन्होंने पाया कि महिला के पेट में बना ट्यूमर बड़ी ही जटिल स्थिति में है, जिसमें अधिक विलंब होने पर उसकी जान को खतरा भी हो सकता है। लिहाजा उसकी तत्काल सर्जरी का निर्णय लिया गया।  

सुशांत केस पर सोनू सूद ने किया कंगना पर तीखा हमला, कहा- जो मिले भी नहीं वो बहस करना चाहते हैं

ट्यूमर के ऑपरेशन हुआ सफलतापूर्वक
एम्स के सर्जिकल गैस्ट्रो विभाग के विशेषज्ञों की टीम ने इस महिला के ट्यूमर के ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया। सफल सर्जरी करने वाली टीम में शल्य चिकित्सक डॉ. मधुर उनियाल, डॉ. अभिषेक अग्रवाल और एनेस्थिसिया विभाग के डॉ़ वाईएस पयाल व डॉ. अजीत कुमार शामिल थे। एम्स निदेशक प्रोफेसर रविकांत ने इस सफलता के लिए चिकित्सकों की टीम को बधाई दी है। निदेशक ने कहा कि एम्स ऋषिकेश में जटिलतम बीमारियों के उपचार के लिए वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हैं।

किर्गिस्तान में फंसे छात्रों की मदद के लिए आगे आए सोनू सूद, चार्टर फ्लाइट से वापिस आएंगे सभी छात्र

एम्स के डीन (एकेडमिक) प्रो. मनोज गुप्ता ने बताया कि ऑपरेशन बहुत ही चुनौतीपूर्ण था। क्योंकि, अग्नाशय के बिल्कुल नजदीक बन चुके ट्यूमर की वजह से स्थिति काफी जटिल हो चुकी थी। 11 सितम्बर को ऑपरेशन के बाद महिला को 20 सितंबर को एम्स से छुट्टी दे दी गई। अभिनेता सोनू सूद ने अपने ट्यूटर एकाउंट और फेसबुक में एम्स ऋषिकेश का विशेष आभार व्यक्त किया है। उन्होंने उल्लेख किया है कि जब पटना और दिल्ली एम्स में उक्त महिला के उपचार की व्यवस्था नहीं हो पाई, तो ऐसे में ऋषिकेश एम्स ने न केवल महिला की जान बचाई है, बल्कि निहायत कम समय में उसे ठीक कर डिस्चार्ज भी कर दिया है।

comments

.
.
.
.
.