Friday, Jul 03, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 2

Last Updated: Thu Jul 02 2020 10:02 PM

corona virus

Total Cases

618,686

Recovered

370,414

Deaths

18,089

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA180,298
  • NEW DELHI92,175
  • TAMIL NADU86,224
  • GUJARAT33,999
  • UTTAR PRADESH24,056
  • RAJASTHAN18,427
  • WEST BENGAL17,907
  • ANDHRA PRADESH16,097
  • TELANGANA15,394
  • HARYANA15,201
  • KARNATAKA14,295
  • MADHYA PRADESH13,861
  • BIHAR10,392
  • ASSAM7,836
  • ODISHA7,545
  • JAMMU & KASHMIR7,237
  • PUNJAB5,418
  • KERALA4,312
  • UTTARAKHAND2,831
  • CHHATTISGARH2,795
  • JHARKHAND2,426
  • TRIPURA1,385
  • GOA1,251
  • MANIPUR1,227
  • LADAKH964
  • HIMACHAL PRADESH942
  • PUDUCHERRY714
  • CHANDIGARH490
  • NAGALAND451
  • DADRA AND NAGAR HAVELI203
  • ARUNACHAL PRADESH187
  • MIZORAM151
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS97
  • SIKKIM88
  • DAMAN AND DIU66
  • MEGHALAYA51
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
ayodhya kartik purnima sarayu uttar pradesh hindu calendar

अयोध्या में सबकुछ सामान्य, कार्तिक पूर्णिमा पर सरयू में स्नान के लिए पहुंच रहे हैं श्रद्धालु

  • Updated on 11/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भय और आशंकाओं का माहौल खत्म होता नजर आ रहा है, मंदिरों में सामान्य पूजा-अर्चना हो रही है और शहर के हालात सामान्य दिख रहे हैं। सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima) के अवसर पर धार्मिक नगरी अयोध्या (Ayodhya) में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं के सरयू नदी (Sarayu) में पवित्र स्नान करने की संभावना है। वैसे, सरयू के घाटों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ है।

ayodhya case verdict: कोर्ट ने फैसले में इन विदेशियों के यात्रा वृतांतों का किया उल्लेख

स्नान के लिए पहुंच रहे हैं देश के विभिन्न हिस्सों से श्रद्धालु 
सूचना उपनिदेशक (अयोध्या मंडल) मुरलीधर सिंह  (Muralidharan singh) ने बताया कि सरयू नदी में पवित्र स्नान सोमवार को शाम चार बजे से शुरू होगा और मंगलवार की शाम तक चलेगा क्योंकि हिंदू कैलेंडर (Hindu Calendar) के हिसाब से पूर्णिमा सोमवार की शाम से लगेगी। कार्तिक पूर्णिमा स्नान के लिए प्रदेश और देश के विभिन्न हिस्सों से श्रद्धालु यहां पहुंच रहे हैं। राम मंदिर मसले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर श्रद्धालुओं का यह सबसे बड़ा जमावड़ा होगा।

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से जस्टिस गांगुली हुए बेहद परेशान, जाहिर किए जज्बात

त्योहार के मौके पर आते हैं 50 हजार से अधिक श्रद्धालु  
नया घाट और राम की पैड़ी सहित अन्य घाटों पर लाखों श्रद्धालुओं के सरयू नदी में स्नान करने की संभावना है। काॢतक पूर्णिमा स्नान को देखते हुए अयोध्या के जिला प्रशासन ने रविवार की शाम यातायात संबंधी योजना जारी की। जिला अधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर अयोध्या में पांच लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है । सामान्य दिनों में यह संख्या लगभग 8000 होती है जबकि किसी त्योहार के मौके पर 50 हजार से अधिक श्रद्धालु आ जाते हैं। झा ने बताया कि हमने सुरक्षा को लेकर एहतियाती कदम उठाए हैं।

Video में देखिए कैसा होगा अयोध्या का Ram Mandir, क्या होगी खासियत

18 जगहों पर पानी के टैंकर 20 मेडिकल कैंप 30 मोबाइल शौचाल
यह सुनिश्चित करने का प्रयास भी किया जाएगा कि श्रद्धालुओं को किसी तरह की कोई समस्या ना होने पाए और वे आराम से पूजा-अर्चना एवं दर्शन कर सकें। उन्होंने बताया कि लगभग 18 जगहों पर पानी के टैंकर रखे गए हैं, 20 मेडिकल कैंप लगाए गए हैं, एंबुलेंस तैयार है और 30 मोबाइल शौचालय भी बनाए गए हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि राम जन्मभूमि क्षेत्र के पास हालात पूरी तरह सामान्य है। राम मंदिर को लेकर उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के तुरंत बाद शहर में जो अनिश्चितता और आशंका छाई हुई थी, वह धीरे धीरे सामान्य स्थिति की ओर बढ़ती नजर आई।

जानें, अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले की 7 अहम बातें

कनक भवन में भी श्रद्धालुओं ने किया पूजन
सरयू नदी के किनारे नया घाट पर जहां नौ नवंबर को एक भी श्रद्धालु स्नान करता नहीं दिखा, वहीं रविवार 10 नवंबर को कुछ श्रद्धालु पूजा-अर्चना करते नजर आए और सोमवार की सुबह श्रद्धालुओं का जत्था सरयू में डुबकी लगाता दिखा। सोमवार को बाहर से भी श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला रहा। हनुमान गढ़ी मंदिर (Hanuman Garhi Mandir) में आम दिनों की तरह पूजा अर्चना की गई। कनक भवन में भी श्रद्धालुओं ने पूजन किया।

 हिंदू और मुसलमान के बीच कहीं किसी तरह की कोई समस्या नहीं
हनुमानगढ़ी के पास छोटी-छोटी दुकानें खुली रहीं और लोग पूजन सामग्री, प्रसाद और अन्य सामान खरीदते मिले। सुरक्षा व्यवस्था हर जगह चाक-चौबंद थी। हनुमानगढ़ी की ओर बढने वाले रास्तों पर जगह-जगह बैरियर लगाए गए थे। वाहनों का प्रवेश बंद था। अयोध्या के चौक बाजार में दुकानें आम दिनों की तरह ही खुलीं और सड़क पर चहल-पहल नजर आई। स्थानीय लोगों से बात करने पर यही प्रतिक्रिया मिली कि सब कुछ सामान्य है, अयोध्या में हिंदू और मुसलमान के बीच कहीं किसी तरह की कोई समस्या नहीं है।

बस अड्डे पर आम दिनों की अपेक्षा  बसों की संख्या अधिक
बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को वापस उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) रोडवेज की ओर से नया घाट पर शनिवार को बसों का भारी-भरकम इंतजाम किया गया था। लेकिन आज नया घाट पर एक भी बस नजर नहीं आई। वहां मौजूद यातायात पुलिस के एक अधिकारी से जब पूछा तो उन्होंने बताया कि अब हालात सामान्य हो चले हैं इसलिए बसों का संचालन अयोध्या बस अड्डे से ही हो रहा है। अयोध्या बस अड्डे पर आम दिनों की अपेक्षा आज बसों की संख्या अधिक थी । भीड़ थी और श्रद्धालु अपने अपने गंतव्य को जाने के लिए बसों की प्रतीक्षा करते भी नजर आए।

देश विदेश का मीडिया अभी भी मौजूद 
कुछ समय के लिए यातायात जाम की स्थिति भी बनी लेकिन दिल्ली, गोरखपुर, लखनऊ, गोंडा, बस्ती, प्रयागराज सहित विभिन्न कागहों के लिए बसों का आना-जाना लगातार जारी था। शहर के होटलों, धर्मशाला और आश्रमों में बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ थी। देश विदेश का मीडिया अभी भी यहां जमा हुआ है। अयोध्या में कल बारावफात का जुलूस नहीं निकला लेकिन आज सुबह सामान्य स्थिति देखकर और स्थानीय लोगों से बातचीत कर ऐसा नहीं लगा कि इस संबंध में कहीं किसी तरह का कोई तनाव है।    

comments

.
.
.
.
.