famous sikh pilgrimage shrine of sri hemkund sahib closed for winter

सिख तीर्थस्थल श्री हेमकुंड साहिब के कपाट शीतकाल के लिए हुए बंद

  • Updated on 10/10/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तराखंड में चमोली जिले के उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित दुनिया के सबसे उंचे सिख गुरूद्वारा श्री हेमकुंड साहिब के कपाट बृहस्पतिवार को शीतकाल के लिये बंद कर दिये गये। चौदह हजार दो सौ दो फुट की उंचाई पर स्थित हेमकुंड साहिब के कपाट बंद होने के मौके पर ठंड के बावजूद 3000 से अधिक सिख श्रद्धालु मौजूद थे।

रेलवे के लिए बनेगा सिंगल विंडो क्लियरेंस सिस्टम, CM ने की रेल लाइन कार्यों की समीक्षा

तीर्थयात्रियों ने गुरूद्वारे के कपाट बंद होने से पहले वहां मत्था टेका। कपाट बंद होने की प्रक्रिया सुबह से ही शुरू हो गई थी। प्रात: दस बजे सुखमणी पाठ, पूर्वाह्न 11 बजे सबद कीर्तन और दोपहर साढ़े बारह बजे अंतिम अरदास के बाद विधि विधान के साथ गुरु ग्रंथ साहिब को पंच प्यारों की अगुवाई में सतखंड में विराजमान कर दिया गया।

दिव्यांग व्हील चेयर से आस्था पथ से पहुंचेंगे केदारनाथ

इसके बाद दोपहर डेढ़ बजे श्रद्धालुओं के लिए कपाट बंद कर दिये गये । इस साल श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा पर लगभग ढाई लाख तीर्थयात्री दर्शनों के लिए पहुंचे। अब अगले साल मई में गुरूद्वारे के कपाट फिर खोले जायेंगे। गुरूद्वारे के पास स्थित लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट भी आज शीतकाल के लिये बंद कर दिये गये।

दून जिला महिला मोर्चा के अध्यक्ष समेत चार कार्यकर्ता पार्टी से निष्कासित    

पूरे क्षेत्र के भारी बर्फवारी और भीषण ठंड की चपेट में रहने के कारण र्सिदयों में हर साल श्री हेमकुंड साहिब और लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिये बंद कर दिये जाते हैं जो अगले साल मई में दोबारा खुलते हैं ।

comments

.
.
.
.
.