Tuesday, Jan 18, 2022
-->
ac train runs on ram''''''''s dham yatra, will visit ayodhya, kashi, rameshwaram

एसी ट्रेन चली राम के धाम यात्रा पर, आयोध्या, काशी, रामेश्वरम के होंगे दर्शन

  • Updated on 11/8/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से रवाना हुई डीलक्स एसी ट्रेन से प्रभु राम की जन्मभूमि अयोध्या के साथ साथ रामायण सर्किट पर प्रभु श्रीराम के जीवन से जुड़े स्थलों के दर्शन करवाएगी।
यह डीलक्स एसी पर्यटक ट्रेन 17 दिनों में अपनी यात्रा पूरी करेगी।  देखो अपना देश,  यात्रा पर फर्स्ट एसी व सेकंड एसी की सुविधा वाली इस डीलक्स  एसी  टूरिस्ट ट्रेन में कुल 156 यात्रियों के लिए प्रबन्ध हैं।

एसी ट्रेन से चलो राम के धाम
धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यह ट्रेन प्रभु श्रीराम से जुड़े सभी महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों का भ्रमण व दर्शन कराएगी। यह यात्रा पहले भी आयोजित की गई है लेकिन तब इसमे केवल स्लीपर कोच थे। अब पहली बार आधुनिक साज सज्जा के साथ तैयार वातानुकूलित पर्यटक ट्रेन, इस अनूठी यात्रा के लिए चलायी  है।

17 दिन की यात्रा का पहला पड़ाव प्रभु श्री राम का जन्म स्थान अयोध्या होगा जहां श्री राम जन्मभूमि पर रामलला, श्री हनुमान मंदिर व नंदीग्राम में भरत मंदिर का दर्शन कराए जाएंगे। अयोध्या से रवाना होकर यह ट्रेन सीतामढ़ी जाएगी जहां जानकी जन्म स्थान वह नेपाल के जनकपुर स्थित राम जानकी मंदिर का दर्शन मिलेंगे।

ट्रेन का अगला पड़ाव भगवान शिव की नगरी काशी है जहां से पर्यटक बसों द्वारा काशी के प्रसिद्ध मंदिरों सहित सीता समाहित स्थल, प्रयाग, श्रृंगवेरपुर, व चित्रकूट की यात्रा करेंगे। इस दौरान काशी प्रयाग व चित्रकूट में रात्रि विश्राम होगा।
चित्रकूट से चलकर यह ट्रेन नासिक पहुंचेगी जहां पंचवटी व त्रयंबकेश्वर मंदिर का भ्रमण होगा। नासिक के पश्चात प्राचीन किष्किंधा नगरी हंपी इस ट्रेन का अगला पड़ाव होगा जहां अंजनी पर्वत स्थित श्री हनुमान जन्म स्थल व अन्य महत्वपूर्ण धार्मिक व विरासत मंदिरों का दर्शन कराया जाएगा।

इस ट्रेन का अंतिम पड़ाव रामेश्वरम होगा। रामेश्वरम में पर्यटकों को प्राचीन शिव मंदिर व धनुषकोडी का दर्शन लाभ प्राप्त होगा। रामेश्वरम से चलकर यह ट्रेन 17वें दिन दिल्ली वापस पहुंचेगी। इस दौरान ट्रेन द्वारा लगभग 7500 किलोमीटर की यात्रा पूरी की जाएगी।

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस पूर्णतया वातानुकूलित पर्यटक ट्रेन में यात्री कोच के अतिरिक्त दो रेल डाइनिंग रेस्तरां एक आधुनिक किचन कार व यात्रियों के लिए फुट मसाजर, मिनी लाइब्रेरी, आधुनिक एवं स्वच्छ शौचालय और शॉवर क्यूबिकल आदि की सुविधा भी उपलब्ध है। सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड, इलेक्ट्रॉनिक लॉकर एवं सीसीटीवी कैमरे भी प्रत्येक कोच में उपलब्ध हैं।

आईआरसीटीसी ने एसी प्रथम श्रेणी की यात्रा के लिए 1.02 लाख रुपए प्रति व्यक्ति एवं एसी द्वितीय श्रेणी की यात्रा के लिए  82950 रुपए प्रति व्यक्ति का शुल्क तय किया है। यात्रा के अतिरिक्त स्वादिष्ट शाकाहारी भोजन, एसी बसों द्वारा पर्यटक स्थलों का भ्रमण, एसी होटलों में ठहरने की व्यवस्था, गाइड व इंश्योरेंस आदि कि सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी।
सरकार, पीएसयू के कर्मचारी इस यात्रा पर वित्त मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर पात्रता के अनुसार एलटीसी सुविधा का लाभ भी उठा सकते हैं।

आईआरसीटीसी की प्रबन्ध निदेशक रजनी हसीजा के मुताबिक कोरोना को देखते हुए पर्यटकों को फेस मास्क, हैंड ग्लव्स और सैनिटाइज़र रखने के लिए एक सुरक्षा किट भी प्रदान की है। उन्होंने बताया कि यात्रा के प्रति सभी आयु वर्ग के लोगों में उत्साह दिखाया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.