Thursday, Mar 04, 2021
-->
America Capitol building Fire Security Donald trump Joe Biden sobhnt

अमेरिका में जो बिडेन के शपथ ग्रहण से पहले कैपिटल बिल्डिंग के पास लगी आग, लगाया lockdown

  • Updated on 1/19/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  अमेरिका (America) में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) के शपथग्रहण समारोह के लिए पूर्वाभ्यास में शामिल लोगों को सोमवार को सुरक्षा अधिकारियों के आदेश पर कैपिटल बिल्डिंग के वेस्ट फ्रंट से हटाया गया। अधिकारियों ने बताया कि इन लोगों को वहां से कुछ दूरी पर आग लगने के बाद वहां से निकाला गया। अधिकारियों के अनुसार वहां एकत्रित व्यक्तियों में सेना का एक बैंड शामिल था। अधिकारियों ने बताया कि इन लोगों को भीतर चलने और कैपिटल परिसर में एक सुरक्षित स्थान पर जाने को कहा गया। बता दें ऐसा इसलिए करना पड़ा क्योंकि कैपिटल बिल्डिंग के पास में ही किसी कारणवश आग लग गई थी।      

कृषि कानूनों पर उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित कमेटी की पहली बैठक मंगलवार को 
 
कैपिटल बिल्डिंग के पास लगा लॉकडाउन
कैपिटल बिल्डिंग के पास आग लगने और इसके अलावा पिछले दिनों राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समर्थकों द्वारा कैपिटल बिल्डिंग पर हुई हिंसा के बाद कैपिटल बिल्डिंग के पास लॉकडाउन लगा दिया गया है। ताकि कुछ समय तक वहां किसी की आवाजाही न हो सके। ऐसा सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। बता दें यहां 20 जनवरी को अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन शपथ लेने वाले हैं। 

महिला किसान दिवस’ के मौके पर महिला किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी के बॉर्डर पर संभाला मोर्चा 

कह यह कोई ड्रिल नहीं
पूर्वाभ्यास में शामिल लोगों के अनुसार, सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि ‘यह कोई ड्रिल नहीं है।’ कानून प्रवर्तन से जुड़े चार अधिकारियों ने बताया कि कुछ ब्लॉक दूर आग लग गई थी और एहतियात के तौर पर पूर्वाभ्यास स्थल को खाली कराया गया। गत छह जनवरी को प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प होने के बाद कैपिटल परिसर और आसपास के क्षेत्रों को बंद कर दिया गया है।     

हिंसा वाले दिन अमेरिकी पुलिस को किसी तरह का निर्देश नहीं था।  एक सुरक्षाकर्मी इमारत में एक स्थान से दूसरे स्थान पर दौड़ा और प्रदर्शनकारियों का मुकाबला किया। एक अन्य ने फैसला किया कि वह मुश्किल में फंसे अधिकारियों की मदद के आह्वान पर काम करेगा। उक्त सुरक्षाकर्मी ने उन कर्मियों की मदद में तीन घंटे बिताये जिन पर किसी रसायन का छिड़काव किया गया था। तीन अधिकारी एक दंगाई को हथकड़ी लगाने में सफल रहे।

अर्नब ने विपक्ष के बढ़ते हमलों के बीच तोड़ी चुप्पी, निशाने पर पाक और कांग्रेस

मीडिया से बात करने पर था मना
हालांकि भीड़ ने हमला किया और भीड़ में शामिल लोग गिरफ्तार व्यक्ति को हथकड़ी लगे ही अपने साथ ले गए। गत छह जनवरी को कैपिटल में प्रदर्शनकारियों का सामने करने वाले अमेरिका कैपिटल पुलिस के चार सदस्यों से साक्षत्कार से पता चला कि जब बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी वहां घुसे तो वहां कमान ढांचा कितनी जल्दी धाराशायी हो गया था। अधिकारियों ने यह जानकारी अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर दी क्योंकि विभाग ने मीडिया से बात करने वाले को निलंबित करने की चेतावनी दी है।       

अधिकारियों में से एक ने कहा, ‘हम अपने दम पर थे, पूरी तरह से अपने दम पर।’इन अधिकारियों ने कहा कि उन्हें छह जनवरी की सुबह नेतृत्व द्वारा इसकी कोई चेतावनी नहीं दी गई थी कि हजारों प्रदर्शनकारी वहां आ धमकेंगे और उनके पास उनसे भी बेहतर हथियार होंगे। अधिकारियों ने बताया कि जब झड़प शुरू हुई तब उन्हें विभाग के नेतृत्व की ओर से कोई निर्देश नहीं दिया गया कि भीड़ को कैसे रोकना है या सांसदों को कैसे बचाना है। उन्होंने बताया कि उस समय वहां पर नियमित दिनों जितने ही सुरक्षाकर्मी थे।      

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.