Sunday, Aug 01, 2021
-->
China Ali baba E commerce jack maa labour salary issue sobhnt

चीन में ज्यादा काम, कम सैलरी से परेशान कर्मचारी कर रहे हैं आत्महत्या

  • Updated on 1/19/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन (China) में अक्सर सुनने को मिलता है कि वहां सबसे सस्ती लेबर मिलती है। ऐसे में वहां के उद्योग जगत अच्छा खासा फल फूल रहे हैं। मगर जितना वहां के उद्योग जगत फलते फूलते है उसका पूरा फायदा वहां के नागरिकों को नहीं मिल पाता। इसी वजह से चीन के मजदूरों की जान ले रहा है। अभी हाल में वहां से खबर आ रही है कि वहां काम के दवाब, कम सैलरी और भेदभाव के कारण चीन के ई-कॉमर्स (e commerce)  क्षेत्र में कई लोग आत्म-हत्या कर रहे हैं। 

किसानों की ट्रैक्टर रैली पर कोर्ट ने नहीं लगाई रोक, अब सुनवाई 20 को

कड़ाके की ठंड मे ंभी करते हैं काम 
बता दें हो डिलिवरी करने वाले ई-कॉमर्स के कंपनियों के कर्मचारी कड़ाके की ठंड में भी खाने- पीने की चीजें उनके घर भेज रहे हैं। ऐसे में  यह लोग न दिन देखते न रात लोगों के 24 घंटे सामान पहुंचाते हैं। उन्हें कम पैसे मिलने के कारण वह लोग आत्म हत्या कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अली बाबा समूह के एक कर्मचारी का सामना आया है। जिसमें कर्मचारी ने कम पैसे और अत्याधिक दवाब से परेशान होकर आत्म हत्या की कोशिश की है। उसे फिलहाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां वह जिंदगी और मौत से लड़ रहा है। 

बिहार में आज नए मंत्रियों के नाम पर लग सकती है अंतिम मुहर, मंत्रिमंडल का जल्द होगा विस्तार

कर्मचारी को अस्पताल में किया भर्ती
बता दें इसके अलावा दो और कंपनियों के कर्मचारियों ने आत्म हत्या कर ली है। वहीं  जो कर्मचारी अस्पताल में भर्ती है। वह जिंदगी और मौत के बीच लड़ रहा है। कंपनियों के इस तरह के रवैए से परेशान होकर कर्मचारी अब विरोध कर रहे हैं मगर कंपनियों इस तरह के मामले सामने आने के बाद भी अपनी नीतियों में कोई खास बदलाव नहीं कर रही है।  

किसानों की ट्रैक्टर रैली पर कोर्ट ने नहीं लगाई रोक, अब सुनवाई 20 को

कंपनियों के खिलाफ लोग हो रहे हैं इकट्ठा
जिस कर्मचारी ने आत्म दाह की कोशिश की है। वह अली बाबा ग्रुप की ई- कॉमर्स कंपनी का ड्राइवर है जो सैलरी ने मिलने से परेशान था। जिसके बाद उसने आत्म दाह की कोशिश की है। इस दौरान उसकी एक वीडियो चीन में सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसके बाद वहां कंपनियो के खिलाफ लोगों का गुस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है। लोग कंपनियों के इस मनमाने तरीके से परेशान हो गए हैं। वह इसका विरोध कर रहे हैं।  

गौरतलब है कि चीन में पहली बार ऐसा नहीं हो रहा है। वहां से लगातार इस तरह की खबरें आती रहती है कि कंपनियां किस तरह लोगों का शोषण करती है और कम पैसों में ज्यादा काम कराती है। चीन इसके लिए लंबे समय से बदनाम रहा है। वहां की कंपनियां लगातार इस तरह की हरकत करती रहती हैं।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.