Thursday, Dec 02, 2021
-->
pakistan getting aggressive after the spy officers caught red handed vbgunt

जासूसी पकड़े जाने पर सामने आई पाकिस्तान की छटपटाहट, भारतीय दूतावास को सम्मन

  • Updated on 6/1/2020

नई दिल्ली टीम डिजिटल। पाकिस्तानी दूतावास (pakistan high commission) के जासूस अधिकारी (spy) आबिद हुसैन और ताहिर हुसैन की देश विरोधी गतिविधियां सामने आने के बाद पर्सोटा नॉन ग्रेटा घोषित कर दिया गया है। इस नियम में दोषी अधिकारियों को 24 घंटे के अंदर भारत छोड़ने की ताकीद की जाती है। दोपहर तक दोनों को हिदुस्तानी की सरहदों के पार भी पहुंचा दिया गया है। मगर पाकिस्तान अपनी इस हरकत के सामने आने के बाद भी बेशर्मी से अपने गुनाहों को छिपाने की कोशिश में लगा है। अलबत्ता उल्टा खिसियानी बिल्ली खंबा नोंचे वाली हालत में पाकिस्तान के इस्लामाबाद में तैनात हिंदुस्तानी दूतावास (indian high commission) के अधिकारी को ही सम्मन भेज कर इस फैसले पर अपनी नाराजगी जताई है।

अमानतुल्लाह ने पूछा- क्या दिल्ली पुलिस नहीं जानती कि दंगे कराने में BJP नेता कपिल मिश्रा...

भारतीय राजदूत को ही भेजा सम्मन
दिल्ली के करोल बाग में रंगे हाथों गिरफ्तार पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी आबिद हुसैन और ताहिर हुसैन की हरकतें सामने आने के बाद भी पाकिस्तान हर बार की तरह इन सबूतों को झुठलाने पर तुल गया है। वहीं पलटवार करने के फेर में भारतीय राजदूत को ही सम्मन भेज दिया है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने भारत के आरोपों को गलत बताते हुए इसे वियना संधि का उल्लंघन करार दिया है। पाकिस्तान ने यहां तक कह दिया कि पाकिस्तानी अधिकारियों को पर्सोटा नॉन ग्रेटा सरीखा नियम थमाने से दोनों देशों के बीच आपसी रिश्तों में खटास पैदा हो सकती है।

तो क्या सोनू सूद के नाम पर हो रही है ठगी, अभिनेता को श्रमिकों से करनी पड़ी ये अपील

पाकिस्तान के उप राजदूत तक पहुंची भारत की चेतावनी
दूसरी ओर पाकिस्तानी दोषी अधिकारियों को भेजने के बाद भारत ने पाकिस्तान के उप राजदूत से इन हरकतों की शिकायत भी की है। भारत ने दो टूक कहा कि पाक के राजनायिक मिशन का कोई भी सदस्य भारत विरोधी गतिविधियों में लिप्त नहीं होना चाहिए। किसी भी पाकिस्तानी अधिकारी को असंगत बर्ताव नहीं करना चाहिए। साथ ही हाल के घटनाक्रम के लिए भी पाकिस्तान से नाराजगी जताई।

केजरीवाल सरकार ने जारी किए दिल्ली के अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस

कई महीनों से थी इन दोनों जासूसों पर पैनी नजर
पाकिस्तानी जासूस अधिकारी आबिद हुसैन और ताहिर हुसैन पर महीनों से भारतीय गुप्तचर एजेंसियां नजर रखे हुए थी। ये दोनों भारतीय सेना के अधिकारियों की लिस्ट तैयार करके पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI तक पहुंचा रहे थे।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.