Sunday, Apr 18, 2021
-->
Pakistan Supreme court Imran khan Temple burn sobhnt

पाकिस्तान की कोर्ट ने सरकार को तोड़े गए मंदिर को तुरंत बनवाने के आदेश दिए

  • Updated on 2/10/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पाकिस्तान (Pakistan) के सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने खैबर-पख्तूनख्वा के इलाके में एक प्रसिद्ध मंदिर को तोड़े जाने की घटना को गंभीरता से लिया है। पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने इमरान खान (Imran khan) सरकार को आदेश दिया है कि वह जल्द से जल्द इस मंदिर को बनवाए। इसके अलावा कोर्ट ने इमरान सरकार से समय सीमा का टाइम भी पूछा है। कोर्ट ने कहा है कि मंदिर बनाने के लिए पैसा आरोपियों से वसूला जाए।  

सुरंग में फंसे लोगों को निकालने का अभियान पड़ा धीमा, अब तक 32 शव बरामद  

100 साल पुराने मंदिर को तोड़ा गया
बता दें पाकिस्तान की कट्टरपंथी जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम पार्टी के लोगों ने 100 साल पुराने एक मंदिर के अंदर पहले तोड़फोड़ की उसके बाद मंदिर को आग लगा दी। यह मंदिर करक जिले के टेरी गांव की घटना है। इस घटना का हिंदू समुदाय की तरफ से कड़ी निंदा की गई है। मानवाधिकार कार्यकर्ता और अन्य समुदाय ने भी इस घटना की निंदा की। जिसके बाद इस पूरे मामले पर पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने स्वतं संज्ञान लिया है। कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि क्या अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी या फिर कोई जुर्माना लगा है या नहीं ? जिसके जवाब में वकील ने बताया है कि अभी ऐसा कुछ नहीं हुआ है।

राहुल गांधी की ने LAC पर टिप्पणी को लेकर वीके सिंह को बर्खास्त करने की मांग 

प्रातीय सरकार ने 3 करोड़ दिए जाने का आश्वासन दिया
बता दें पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस गुलजार अहमद की अध्यक्षता वाले तीन जजों की पीठ ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए प्रातीय सरकार को आदेश दिया था कि वह जल्द से जल्द इस मंदिर का निर्माण कराए। कोर्ट ने इसके अलावा मंदिर के लिए उन लोगों से पैसा वसूलने को भी कहा था जिन लोगों ने इसे तोड़ा है कोर्ट ने कहा था कि पैसा उन लोगों से वूसला जाना इसलिए भी जरुरी है क्योंकि उन लोगों को सबक सिखाया जा सके। वहीं दूसरी तरफ सरकार ने भी मंदिर बोर्ड को 3 करोड़ रुपए की राशि मुहैया कराए जाने का ऐलान किया था।   

राहुल गांधी की ने LAC पर टिप्पणी को लेकर वीके सिंह को बर्खास्त करने की मांग 

28 मार्च को होगा होली कार्यक्रम
बता दें कोर्ट ने इसके अलाावा इस साल के होली उत्सव को प्रहलाद मंदिर में मनाए जाने के लिए कहा है। कोर्ट ने प्रहलाद पुरी मंदिर 28 मार्च के होली मिलन समारोह के लिए तैयार करने का निर्देश दिया है। बता दें पाकिस्तान में करीब 70 लाख हिंदू रहते हैं। जबकि हिंदू संगठन इस आंकड़े को 90 लाख के करीब मानकर चलते हैं। बता दें पाकिस्तान के सिंध प्रांत में सबसे ज्यादा हिंदू रहते थे जो बंटवारे के बाद भारत चले आए थे। उनमें से कुछ लोग पाकिस्तान में ही रह गए थे। और वहीं हिंदू रीति रिवाज से पूजा पाठ करने लगे।  


 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.