Thursday, Oct 28, 2021
-->
pm modi said massive support of people in defeating corona sobhnt

पीएम मोदी ने कहा- Corona को हराने में आमजनों का मिला भरपूर सहयोग, आपदा को बदला अवसर में

  • Updated on 1/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) बृहस्पतिवार को विश्व आर्थिक मंच के दावोस संवाद को संबोधित किया है। उन्होंने अपने संबोधन में कोरोना काल में देशवासियों के संयम का जिक्र करते हुए कहा कि हम सभी ने मिलकर वैश्विक महामारी को हराने के लिये एकजुटता का प्रदर्शन किया है।

हाथरस बलात्कार-हत्या मामले में नहीं हो सकी इलाहाबाद हाई कोर्ट सुनवाई

उन्होंने कहा कि जब दुनिया भर के एक्सपर्ट इस बात का आशंका जाहिर कर रहे थे कि कोरोना के कारण भारत भारी मुश्किल में आ सकती है। उस समय हम सभी ने एक योजनाबद्ध तरीके से काम किया। जिसका नतीजा रहा कि कोरोना वायरस  के प्रभाव को रोकने में सफल रहें।पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना से लड़ाई में देश ने कभी निराशा को हावी नहीं होने दिया। जिसका परिणाम भी सुखद रहा। बता दें कि पीएम भारत के विकास संबंधी विभिन्न पहलुओं और प्रौद्योगिकी के उपयोग पर अपनी बात रखी।  

अमेरिका-भारत के बीच बनेंगे नए रिश्ते! बाइडन प्रशासन की भारत सरकार से हुई सकारात्मक बातचीत

400 से ज्यादा प्रतिनिधि  ले रहे हिस्सा
इस कार्यक्रम में दुनिया के उद्योग जगत के 400 से अधिक शीर्ष प्रतिनिधि भाग  ले रहे है। जिसमें प्रधानमंत्री ‘चौथी औद्योगिक क्रांति-मानवता की भलाई के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग’ विषय पर सत्र को संबोधित किया है।। बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री इस दौरान सीईओ के साथ बातचीत भी किया।      

सिसोदिया मानहानि मामले में मनोज तिवारी को सुप्रीम कोर्ट से मिली बड़ी राहत

यह वैश्विक नेता रहे मौजूद 
अन्य वैश्विक नेताओं के अलावा इस सम्मेलन को अभी तक चीनी राष्टपति शी जिनपिंग, जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्कल और रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन संबोधित कर चुके है। बयान के मुमाबिक दावोस संवाद एजेंडा कोविड-19 महामारी के बाद की दुनिया में विश्व आर्थिक मंच की महत्वपूर्ण पहल की शुरुआत का प्रतीक है।    

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.