Wednesday, Dec 08, 2021
-->

फेयरवेल स्पीच में बोले ओबामा, मुसलमान भी उतने ही देशभक्त हैं जितने हम

  • Updated on 1/11/2017

नई दिल्ली (टीम डिजिटल) : अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शिकागो में अपना विदाई भाषण देिया। इस दौरान वह भावुक भी हुए। ओबामा ने अपने आठ साल के कार्यकाल की तारीफ करते हुए कहा कि हमने सारे वादे पूरे किये। उन्होंने कहा, 'आने वाले 10 दिनों में अमेरिका सत्ता परिवर्तन का गवाह बनेगा, मुझे खुशी है कि सबकुछ शांतिपूर्ण ढंग से हो रहा है।'

20 जनवरी 2017 को ओबामा का व्हाइट हाउस में आखिरी दिन होगा। वह लगातार दो बार अमेरिका के राष्ट्रपति रहे हैं।

हाल ही में हुए राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने जीत दर्ज की है। ओबामा के बाद ट्रंप राष्ट्रपति की जिम्मेदारी संभालेंगे। डेमोक्रैट्स की ओर से हिलेरी क्लिंटन राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार थीं।

ओबामा ने फेयरवेल स्पीच में कहा कि हम व्यवस्था को भ्रष्ट मान लेते हैं और चुने हुए नेताओं को दोष देते हैं लेकिन हम अपनी भूमिका को भूल जाते हैं।

मिशेल न सिर्फ मेरी पत्नी और मेरे बच्चों की मां हैं बल्कि मेरी अच्छी दोस्त भी हैं, हमने ओसामा बिन लादेन समेत, हजारों आतंकियों का खात्मा किया है। मुस्लिम अमेरिकियों से भेदभाव के खिलाफ हैं। आइएस को हम पूरी तरह से बर्बाद कर देंगे, अमेरिका हमेशा सुरक्षित रहेगा।

ओबामा ने कहा कि हम व्यवस्था को भ्रष्ट मान लेते हैं और चुने हुए नेताओं को दोष देते हैं लेकिन हम अपनी भूमिका को भूल जाते हैं।

ओबामा ने कहा कि मिशेल न सिर्फ मेरी पत्नी और मेरे बच्चों की मां हैं बल्कि मेरी अच्छी दोस्त भी हैं। हमने ओसामा बिन लादेन समेत, हजारों आतंकियों का खात्मा किया। ओबामा ने अपने पॉप्युलर स्लोगन 'yes we can' से अपना भाषण खत्म किया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.