Thursday, Jan 27, 2022
-->
who coronavirus tedros adhanom china sobhnt

चीन की हरकतों से WHO नाराज, पूछा- वैज्ञानिकों की टीम को कब मिलेगी कोरोना जांच की अनुमति

  • Updated on 1/6/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख ने चीन के कोरोना वायरस के प्रति रवैए को लेकर नाराजगी जताई है। विश्व स्वास्थ्य  संगठन के प्रमुख ने कहा है कि डब्लूएचओ ने चीन की ओर कोरोना वायरस (Coronavirus) की उत्पत्ति की जांच करने वाली टीम भेजी थी। जिसे अभी तक अनुमति नहीं दी गई है। वह कहते हैं डब्लूएचओ जांच करना चाहता है कि चीन में यह वायरस कहां से आया। 

दिल्ली भाजपा ने सिसोदिया को दी AAP सरकार के शिक्षा मॉडल पर बहस की चुनौती 

टीम को अभी तक नहीं मिली मंजूरी
जिनेवा की एक प्रेस कांफ्रेंस में एक डब्लूएचओ प्रमुख ने कहा है कि हमे अभी इस बात की जानकारी मिली है कि चीनी अधिकारियों में कोविड की जांच करने वाली डब्लूएचओ की टीम को अभी तक मंजूरी नहीं दी है। यह अत्यंत दुखी करने वाली बात है। वह कहते हैं कि वह इस खबर से बहुत निराश हैं। वह कहते हैं कि हमारे वैज्ञानिकों की टीम इस बात का पता लगाना चाहती है कि यह वायरस चीन में कैसे जन्मा।

कामधेनु आयोग ने किया क्लीनिकल ट्रायल में आयुर्वेद से कोरोना इलाज का दावा  

कई देशों ने लगाए थे आरोप 
बता दें स्वास्थ्य विभाग की टीम वुहान के दौरे पर जाना चाहती थी। वुहान चीन का वह शहर था जहां से कोरोना का पहला केस सामने आया था। डब्लूएचओ की टीम वहां जाकर पता लगाना चाहती है। कि कैसे कोरोना वायरस की उत्पत्ति हुई थी। चीन लगातार इस तरह के किसी भी जांच दल का विरोध करता रहा है। इससे पहले यूरोप के कई देशों ने भी कोरोना की शुरुआत में चीन पर आरोप लगाए थे कि यह वायरस उसने लैब में बनाया है। वह सच्चाई का पता लगाने के लिए जांच करना चाहते हैं मगर चीन ने ऐसी किसी जांच से मना कर दिया। 

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी पर पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने जतायी निराशा

अमेरिका ने लगाए गंभीर आरोप
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी उस समय आरोप लगाए थे कि चीन ने इस वायरस को अपनी वुहान की लैब में मनाया है। उन्होंने अमेरिकी जांच एजेंसियों के हवाले से कहा है कि चीन ने ऐसा पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने के लिए किया है। वह इससे पहले भी लगातार ऐसा ही करता रहा है। अमेरिका ने तो यहां तक आरोप लगाए थे कि चीन ऐसा करके अमेरिकी लोगों को परेशान करना चाहता है ताकि वह दुनिया में खुद को शक्तिशाली दिखा सके।  

चीन ने अमेरिका समेत दुनियाभर के इन दावों को खारिज कर दिया गया उसने इन सब अफवाहों को खत्म करने के लिए किसी भी विदेशी जांच दल को चीन में नहीं आने दिया। बल्कि उसके चीन का दावा किया कि यह वायरस उसके यहां समुंद्री जीव के सहारे आया है। उसके बाद पूरी दुनिया में फैला है। 
 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.