Saturday, May 30, 2020

Live Updates: 66th day of lockdown

Last Updated: Fri May 29 2020 10:05 PM

corona virus

Total Cases

172,569

Recovered

81,842

Deaths

4,971

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA62,228
  • TAMIL NADU20,246
  • NEW DELHI17,387
  • GUJARAT15,944
  • RAJASTHAN8,158
  • MADHYA PRADESH7,645
  • UTTAR PRADESH7,170
  • WEST BENGAL4,813
  • ANDHRA PRADESH3,330
  • BIHAR3,185
  • KARNATAKA2,533
  • TELANGANA2,256
  • PUNJAB2,158
  • JAMMU & KASHMIR2,036
  • ODISHA1,660
  • HARYANA1,504
  • KERALA1,089
  • ASSAM881
  • UTTARAKHAND500
  • JHARKHAND470
  • CHHATTISGARH398
  • CHANDIGARH289
  • HIMACHAL PRADESH281
  • TRIPURA244
  • GOA69
  • MANIPUR55
  • PUDUCHERRY53
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA21
  • NAGALAND18
  • ARUNACHAL PRADESH3
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
alvar king jai singh prabhakar took revenge from rolls royce company

रोल्स रॉयस के जरिए महाराजा जय सिंह ने ब्रिटिश हुकूमत को दिखाई थी उसकी औकात

  • Updated on 8/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत की प्रसिद्ध कार कंपनी टाटा रोल्स रॉयस (Tata Rolls Royce) का देश के साथ-साथ विदेश में भी काफी नाम है। इस नाम के साथ ही उन्होंने मार्केट में अपनी एक अलग पहचान भी मनाई है। लेकिन नाम कमाने के अलावा इस कंपनी के साथ एक ऐसा कड़वा सच भी जुड़ा हुआ है जिसे आज तक बहुत कम ही लोग जानते हैं। हम बात कर रहे हैं सन् 1920 की जब रोल्स रॉयस कंपनी को उस दौर में काफी बड़ा और सबसे महंगा ब्रांड माना जाता था जिसे खरीदने की हैसियत सिर्फ राजा और महाराजा लोग ही रखते थे।

भूख से बेहाल सांप ने खुद का ही कर लिया शिकार, देखें Viral Video

लंदन में सेल्समेन ने किया था राजा जय सिंह का अपमान

एक बार अलवर के महाराजा जय सिंह प्रभाकर (Jai Singh Prabhakar) लंदन (London) की सड़को पर घुमने के लिए निकले थे, वहीं इस बीच उनकी नजर रोल्स रॉयस के शोरुम पर पड़ी जहां वे अंदर चले गए। राजा जय सिंह प्रभाकर उस वक्त अंग्रेजियत के लिबास में थे और चेहरे पर भारतीय होने का गर्व छलक रहा था। राजा जय सिंह शोरुम के अंदर जहां उन्होंने सेल्समेन (Salesman) से वहां रखी रोल्स रॉयस की गाड़ी और उसकी कीमत के बारे में पुछा।

Navodayatimes

होटल पहुंच कर दिया सेवको को आदेश 

साधारण पहनावे और भारतीय चेहरे को देखकर सेल्समेन ने राजा जय सिंह का खुब मजाक उड़ाया और उन्हें धक्के मारकर शोरुम से बाहर निकाल दिया। जय सिंह अपने साथ हुए इस अपमान को सहन ना कर सके जिसके बाद वह होटल गए और अपने सेवको को आदेश दिया की वह रोल्स रॉयस के शोरुम जाए और वहां के कर्मचारियों को कहे की उनके शोरुम में अलवर के राजा जय सिंह प्रभाकर पधारने वाले हैं।

ट्युमर की वजह से इस नन्हें प्राणि का हुआ ऐसा हाल, तस्वीरें देख मन हो जाएगा विचलित

शोरुम जाकर राजा जय सिंह ने खरीदी 6 रोल्स रॉयस

सेवको ने रोल्स रॉयस के शोरुम जाकर वहां के लोगों को सुचना दे दी जिसके बाद उनकी आव-भगत की तैयारी के लिए वहां पर सारे इंतेजाम किए गए और स्वागत के लिए लाल रंग की कालीन बिछाई गई। राजा जय सिंह अपने शाही लिबास पहनकर शोरुम पहुंचे जहां उन्हें देखकर हर किसी ने उनका स्वागत किया और वहां के सेल्समेन की ये देखकर आंखे फंटी की फंटी रह गई। इसके बाद राजा ने वहां रखी 6 गाड़ी को खरीदने का फैसला किया।

Navodayatimes

नगर निगम को सौंपी गाड़ियां

गाड़ियों को खरीदने के बाद वह अपने देश भारत लौट आए जहां उन्होंने आदेश दिया की इन 6 गाड़ियो को नगर निगम को कचरा साफ करने के लिए दान में दिया जाएगा। राजा की इस आदेश को उन्होंने स्वीकार कर लिया जिसके बाद नगर निगम (municipality) ने 6 रोल्स रॉयस गाड़ी का इस्तेमाल गोबर साफ करने, कचरा उठाने और सड़क पर झाडू लगाने में किया।

कुंग फू स्टाइल में लात मारकर सोशल मीडिया पर इस बकरे ने बटोरी सुर्खियां, देखें Viral Video

Navodayatimes

रोल्स रॉयस ने मांगी माफी

जब भारत की सड़को पर ऐसा कारनामा हुआ तो सभी यह देखकर हक्के-बक्के रह गए और इसी के साथ इस खबर ने तुल पकड़ ली। जब यह खबर ब्रिटेन (Britain) तक पहुंची तो इस बात का उन्हें काफी गहरा सदमा लगा जिसके बाद रोल्स रॉयस के मालिक ने अपने सेल्समेन की तरफ से उनको एक माफीनामा पत्र लिखकर भेजा जिसमें लिखा था कि हम अपनी इस गलती के लिए शर्मिंदा हैं राजा जी कृप्या इन गाड़ियों के बजाय हमारी अन्य गाड़ियों को भेंट के रुप में स्वीकार करें।

जब जाल में फंसा चमगादड़ तो कैसे मकड़ी ने किया शिकार, देखें Viral Video

राजा जय सिंह उनके इस माफीनामे पत्र से बेहद प्रसन्न हुए जिसके बाद उन्होंने नगर निगम से गाड़ियो में कचरा उठाने के लिए मना कर दिया। ब्रिटिश साम्राज्य को सबक सिखाकर राजा जय सिंह प्रभाकर ने ना तो सिर्फ अपने साम्राज्य को अपमान मुक्त कराया साथ ही देश को भी गौरवांवित महसूस करवाया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.