Sunday, Dec 15, 2019
हरिद्वार में कच्ची शराब बनाते पकड़े गए दो स्कूली छात्र

हरिद्वार में कच्ची शराब बनाते पकड़े गए दो स्कूली छात्र

स्पेशल स्टोरी

 जिले में अवैध शराब का धंधा थमने का नाम नहीं ले रहा है। पुलिस की छापेमारी में दो जगहों पर कच्ची शराब बनाने के काले धंधे का भंडाफोड़ हुआ है। हैरत की बात यह है कि एक जगह से दो स्कूली छात्र कच्ची शराब बनाते पकड़े गए। आरोपी छात्रों का कहना है कि वे शराब माफिया के यहां मजदूरी करते हैं।

Share Story
  • एनडीए की तैयारी कर रहे दो छात्रों की डूबने से मौत

    एनडीए की तैयारी कर रहे दो छात्रों की डूबने से मौत

    एनडीए की तैयारी कर रहे दो छात्रों की राजपुर थाना क्षेत्र के चंद्रोटी स्थित टौंस नदी में डूबने से मौत हो गई। हादसा उस समय हुआ, जब आठ छात्र पिकनिक मानाने के लिए चंद्रोटी क्षेत्र स्थित नदी में गए हुए थे। तीन छात्र पानी में नहाने उतरे। इस दौरान दो छात्र डूब गए। पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने दोनों शव को नि

  • सुप्रीम कोर्ट  के आदेश के बाद, कील कांटे दुरुस्त करने में जुटे शासन के अफसर

    सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद, कील कांटे दुरुस्त करने में जुटे शासन के अफसर

    उत्तराखंड में निर्माणाधीन ऑल वेदर रोड का पर्यावरण पर पड़ने वाले दुष्परिणामों का अध्ययन करने के लिए एक टीम जल्द ही उत्तराखंड आने वाली है। यह टीम कोई गलत छवि लेकर ना लौटे इसके लिए उत्तराखंड शासन के अफसरों ने कागजी तौर पर खुद को मजबूत करने का प्रयास शुरू कर दिया है।

  • धू-धूकर जले रावण, मेघनाद, कुंभकरण के पुतले

    धू-धूकर जले रावण, मेघनाद, कुंभकरण के पुतले

    विजयादमशी पर रावण का अहंकार चूर-चूर हो गया। जय श्री राम के नारों के साथ रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले धू-धू कर जले। एक तरफ, पुतले जल रहे थे, तो दूसरी तरफ लोग उल्लास मनाते हुए मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की जय जयकार कर रहे थे। विजयादशमी पर शहर भर में विभिन्न स्थानों पर दशहरा मेला आयोजित किया गया।

  • आईएसबीटी में लीज खत्म होने के बाद भी मौज कर रहे दुकानदार

    आईएसबीटी में लीज खत्म होने के बाद भी मौज कर रहे दुकानदार

    देहरादून का आईएसबीटी (ISBT) उत्तराखंड का एकमात्र बीओटी यानि बिल्ट ऑपरेट ट्रांसफर प्रोजेक्ट है। लेकिन साठगांठ के खेल ने बीओटी के इस मॉडल को भी फेल कर दिया है। आलम ये है कि आईएसबीटी के अधिकांश दुकानदारों की लीज खत्म हो चुकी है।

  • 13 नवम्बर से धाम में कपाट बंद होने की प्रक्रियाएं हो जाएंगी शुरू

    13 नवम्बर से धाम में कपाट बंद होने की प्रक्रियाएं हो जाएंगी शुरू

    बद्रीनाथ धाम में कपाट बंद होने की प्रक्रियाएं 13 नवम्बर से शुरू हो जाएंगी। यँहा 13 नवंबर  प्रातः गणेश मन्दिर में पूजा अर्चना के बाद शाम को गणेश मन्दिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद होंगे। 14 नवंबर आदिकेदारेश्वर मन्दिर, 15  नवंबर खडग, पुस्तक पूजन शाम से वेद ऋचाओं का पाठ बंद हो जायेगा। 16 नवंबर महालक्ष्मी

  • 17 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद होंगे बद्रीनाथ मन्दिर के कपाट

    17 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद होंगे बद्रीनाथ मन्दिर के कपाट

     बद्रीनाथ धाम के कपाट इस यात्रा वर्ष 17 नवंबर को शाम 5 बजकर 13 मिनट। पर शीतकाल के लिए बंद कर दिये जायेंगे। बदरीनाथ मंदिर परिसर में  विजयदशमी के मौके पर मुख्य पुजारी रावल ईश्वरी प्रसाद नम्बूदरी की मौजूदगी में धर्माधिकारी भुवन उनियाल व ब्राह्मणों ने पंचाग गणना के आधार पर तिथि घोषित की। 

  • मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने मानसून से हुए नुकसान की रिपोर्ट तलब

    मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने मानसून से हुए नुकसान की रिपोर्ट तलब

    मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आपदा से हुए नुकसान की फाइनल रिपोर्ट तलब की है। इसके लिए सभी विभागों को पांच अक्तूबर तक की समयसीमा दी गई है। राज्य सरकार जल्द से जल्द यह रिपोर्ट केन्द्र को सौंपना चाहती है, ताकि वित्तीय मदद जारी हो सके