Sunday, Nov 27, 2022
Mobile Menu end -->
महंगाई : अब पपीते ने भी तरेरी आंखें, आवक कम होने से बढ़े दाम

महंगाई : अब पपीते ने भी तरेरी आंखें, आवक कम होने से बढ़े दाम

स्पेशल स्टोरी

लगातार बढ़ती महंगाई ने फल-सब्जियों के दामों में आग लगा रखी है। ऐसे में अब पपीते ने भी आंखे तरेरी हैं। हाल यह है कि खुदरा मार्केट में पपीते का दाम 60-70 रूपए प्रतिकिलो पहुंच चुका है। जिसके पीछे की वजह आवक का कम होना भी बताया जा रहा है। पपीते के बढ़े हुए दामों की मार सिर्फ खुदरा ही नहीं बल्कि थोक दामो

Share Story
  • हरी सब्जियों पर महंगाई की मार

    हरी सब्जियों पर महंगाई की मार

    कई राज्यों में भारी बारिश व बाढ़ की स्थिति बन गई है। खासकर ये वो राज्य हैं जोकि सब्जियों के उत्पादन में अग्रणी माने जाते हैं। लगातार होने वाली बरसात व जलजमाव के चलते मंडियों में सब्जियों की आवक प्रभावित हो रही है। जिसके चलते एशिया की सबसे बड़ी फल-सब्जी मंडी आजादपुर में हरी सब्जियों के दामों में काफी

  • सावन में व्रतधारियों को नहीं देंगे होंगे फल के ज्यादा दाम

    सावन में व्रतधारियों को नहीं देंगे होंगे फल के ज्यादा दाम

    सावन का महीना, शिवभक्ति का होता है। बड़ी संख्या में लोग व्रत रखकर अपने ईष्ट देव को मनाते हैं और उन्हें फल चढ़ाते हैं। लेकिन हर साल सावन मास में फलों के दामों में तेजी देखने को मिलती है पर इस बार व्रतधारियों के लिए राहत भरी खबर है। दरअसल एशिया की सबसे बड़ी फल-सब्जी मंडी आजादपुर में फलों की आवक अधिक ह