Wednesday, Sep 28, 2022
Mobile Menu end -->
कोरोना पर 4 माह बाद राहत भरी खबर, नहीं मिला कोई नया मरीज, 24 घंटे में 2206 लोगों की जांच

कोरोना पर 4 माह बाद राहत भरी खबर, नहीं मिला कोई नया मरीज, 24 घंटे में 2206 लोगों की जांच

स्पेशल स्टोरी

कोरोना को लेकर जनपद गाजियाबाद वासियों के लिए राहत भरी खबर है कि करीब चार माह बाद एक भी कोरोना का मरीज नहीं मिला है। जबकि, बीते 24 घ्ंाटे में कोविड के 2206 सैंपल की टेस्टिंग की गई। इसमें स्वास्थ्य विभाग की ओर से किसी भी मरीज की पुष्टि नहीं की गई। इसके अलावा शनिवार को होम आइसोलेशन में उपचार ले रहे 3 म

Share Story
  •  डिप्टी सीएम के निरीक्षण बाद हरकत में आया स्वास्थ्य विभाग, खामियों को दूर करने में जुटा

    डिप्टी सीएम के निरीक्षण बाद हरकत में आया स्वास्थ्य विभाग, खामियों को दूर करने में जुटा

    उप-मुख्यमंत्री के निरीक्षण के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में आ गया है। शुक्रवार को मोर्चरी में बिजली व्यवस्था सही कराने के साथ ही डीप फ्रीजरों को भी ठीक करवाया गया। यहां तक की सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर ने खुद पहुंचकर व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि जल्द ही सभी व्यवस्थाएं बना ली जाएगी। उप-मु

  • बढ़ रहे डेंगू के मामले, 3 नए मरीजों की पुष्टि

    बढ़ रहे डेंगू के मामले, 3 नए मरीजों की पुष्टि

    कोरोना संक्रमण के प्रकोप के बीच डेंगू भी अपना प्रभाव दिखा रहा है। जहां जिले में तीन और डेंगू के मरीज सामने आए है। इसमें दो जिले से है। अब जिले में डेंगू मरीजों की संख्या भी बढक़र 11 पहुंच गई है। इसके बावजूद अभी भी सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर डेंगू जांच की सुविधा

  • 6 बुजुर्गं समेत 22 संक्रमितों की पुष्टि, 198 हुए सक्रिय मरीज 

    6 बुजुर्गं समेत 22 संक्रमितों की पुष्टि, 198 हुए सक्रिय मरीज 

    जिले में सोमवार को 6 बुजुर्गों समेत 22 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई है। जबकि, 25 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। अब जिले में 198 कोविड मरीजों का उपचार जारी है। इसमें से 175 मरीज होम आइसोलेशन में रहकर उपचार ले रहे है। 13 मरीजों का उपचार विभिन्न कोविड अस्पतालों में चल रहा है। इसके अलावा 10 मरीज ऐसे ह

  • सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी की कमी, ट्रांसजेंडर समुदाय की मुख्य समस्या : डीसीडब्ल्यू

    सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी की कमी, ट्रांसजेंडर समुदाय की मुख्य समस्या : डीसीडब्ल्यू

    डीसीडब्ल्यू ने सरकारी अस्पतालों में सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी की कमी को लेकर दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग को नोटिस भेजा है। डीसीडब्ल्यू का कहना है कि सरकार द्वारा प्रायोजित सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी (एसआरएस) की कमी ट्रांसजेंडर समुदाय की प्रमुख समस्याओं में से एक है।