Tuesday, Jun 28, 2022
Mobile Menu end -->
8 जुलाई से शुरू होगी यूजीसी नेट परीक्षा

8 जुलाई से शुरू होगी यूजीसी नेट परीक्षा

स्पेशल स्टोरी

यूजीसी चेयरमैन एम.जगदीश कुमार ने यूजीसी-नेट परीक्षा दिस. 2021 और जून 2022 की तिथियां घोषित कर दी हैं। कुमार ने कहा कि दिसम्बर 2021 चरण की परीक्षाएं 8 से 12 जुलाई तक और जून 2022 चरण की परीक्षा 12 से 14 अगस्त के बीच आयोजित की जाएगी।

Share Story
  • अब देश के आईआईटीज भी तैयार करेंगे शिक्षक: धर्मेंद्र प्रधान

    अब देश के आईआईटीज भी तैयार करेंगे शिक्षक: धर्मेंद्र प्रधान

    केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार को कहा कि देश के आईआईटीज भी जल्द ही 4 वर्षीय बैचलर इन एजुकेशन या इंटीग्रेटेड शिक्षक शिक्षा प्रोग्राम पेश करेंगे। जिसके बाद युवा प्रौद्योगिकी संस्थानों से भी बीएड डिग्री हासिल कर सकेंगे। देश में कई बीएड कॉलेजों का स्तर मानकों के अनुरूप नहीं है इसलिए य

  • IIT Delhi: सॉल्व फॉर टुमारो प्रतियोगिता में समस्याओं का हल बताएंगे छात्र

    IIT Delhi: सॉल्व फॉर टुमारो प्रतियोगिता में समस्याओं का हल बताएंगे छात्र

    भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान(आईआईटी) दिल्ली का एफआईटीटी केंद्र हाल ही में सैमसंग द्वारा शुरू की गई शिक्षण एवं नवोन्मेष प्रतियोगिता ‘सॉल्व फॉर टुमारो’ में नॉलेज पार्टनर के रूप में काम करेगा। इस प्रतियोगिता के लिए 16 से 22 वर्ष तक के युवा 31 जुलाई तक आवेदन कर सकेंगे।

  • जेईई मेन्स के दूसरे चरण के लिए आवेदन प्रक्रिया हुई शुरू

    जेईई मेन्स के दूसरे चरण के लिए आवेदन प्रक्रिया हुई शुरू

    इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए आयोजित होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई मेन्स) के दूसरे चरण के लिए आवेदन प्रक्रिया बुधवार से शुरू हो गई है। जो उम्मीदवार जेईई मेन्स के दूसरे सत्र में शामिल होना चाहते हैं वह 30 जून तक इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • 87 देशों के एक लाख छात्रों के बीच आईआईटी दिल्ली के कलश ने जीती प्रतियोगिता

    87 देशों के एक लाख छात्रों के बीच आईआईटी दिल्ली के कलश ने जीती प्रतियोगिता

    भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान(आईआईटी) दिल्ली के छात्र कलश गुप्ता ने 87 देशों के एक लाख से ज्यादा प्रतिभागियों के बीच टीसीएस कोडविटा सीजन 10 प्रतियोगिता को जीत लिया है। यह विश्व का सबसे बड़ा कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग कम्प्टीशन था। जिसमें प्रोग्रामिंग को स्पोर्ट के रूप में प्रोत्साहित किया जाता है।

  • जलवायु परिवर्तन के कारण भारत में भीषण गर्मी की संभावना 30 गुना ज्यादा : शोध

    जलवायु परिवर्तन के कारण भारत में भीषण गर्मी की संभावना 30 गुना ज्यादा : शोध

    जलवायु संबंधी एक अध्ययन में दावा किया गया है कि भारत और पाकिस्तान में लंबे समय से जारी भीषण गर्मी ने व्यापक मानवीय पीड़ा और वैश्विक स्तर पर गेहूं की आपूर्ति को प्रभावित किया तथा मानव जनित गतिविधियों के कारण इसके और अधिक तेज होने की संभावना 30 गुना अधिक है।

  • आईआईटी दिल्ली ने कम लागत वाले भूकंप रोधी ब्रेसिज विकसित किए

    आईआईटी दिल्ली ने कम लागत वाले भूकंप रोधी ब्रेसिज विकसित किए

    भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली के शोधकर्ताओं ने कम लागत, उच्च शक्ति, उत्कृष्ट लचीलेपन और बेहतर ऊर्जा अपव्यय क्षमता वाले अनूठे हाइब्रिड बकलिंग-प्रतिबंधित ब्रेसिज (एचबीआरबीएस) तैयार किए हैं। जो किसी भी निर्माण को भूकंप से बेहतर सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।

  • 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए एआई और रोबोटिक्स विषय शुरू करेगा सीआईएससीई

    9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए एआई और रोबोटिक्स विषय शुरू करेगा सीआईएससीई

    आईआईटी दिल्ली के आईएचएफसी व टीआईएच ने सीआईएससीई के साथ करार किया है। जिसके तहत सीआईएससीई बोर्ड द्वारा देश के अनुबंधित स्कूलों के लिए आईआईटी दिल्ली रोबोटिक्स, मशीन लर्निंग(एमएल), डाटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(एआई) का पाठयक्रम तैयार करेगी।

  • दिल्ली वालों के लिए पीएम 2.5 के कण साबित हो रहे जानलेवा

    दिल्ली वालों के लिए पीएम 2.5 के कण साबित हो रहे जानलेवा

    दिल्ली में पीएम 2.5 के प्रदूषण का प्रभाव सर्वाधिक देखा गया है। दिल्ली में वार्षिक रूप से पीएम 2.5 का प्रसार करीब 110 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर क्यू तक बढ़ जाता है। वहीं इसका प्रसार सर्दियों में सर्वाधिक 250 माइक्रो ग्राम प्रति क्यूबिक मीटर क्यू हो जाता है। जिसके कारण यहां होने वाली मौतों की सं

  • 11वीं-12वीं छात्र आईआईटी दिल्ली में सीखेंगे नवाचार

    11वीं-12वीं छात्र आईआईटी दिल्ली में सीखेंगे नवाचार

    आईआईटी दिल्ली स्कूली छात्रों के लिए चेंज मेकर्स नाम से डू इट योरसेल्फ समरबूट कैंप का आयोजन करेगा। इस कैंप में 11वीं और 12वीं कक्षा के छात्र संस्थान की अत्याधुनिक सुविधाओं का उपयोग अपने विचार को वास्तविकता में बदलने के लिए कर सकेंगे। समर बूट कैंप का आयोजन 23 मई से लेकर 24 जून होगा...

  • आईआईटी ने विकसित की फ्लेक्स फ्यूल इंजन टेक्नोलॉजी

    आईआईटी ने विकसित की फ्लेक्स फ्यूल इंजन टेक्नोलॉजी

    आईआईटी दिल्ली में बायोमास, औद्योगिक कचरे, कोयले, निगम के ठोस कचरे, ब्लैक लिकर को गैसीफिकेशन और फिशर ट्रोच सेंथिसिस प्रोसे के जरिए डीएमई में बदल रहा है। डाई मिथाइल ईथर आजकल डीजल का विकल्प बन रहा है। हाल ही में आईआईटी दिल्ली द्वारा फ्लेक्स फ्यूल इंजन टेक्नोलॉजी विकसित की गई है।