Sunday, Jan 23, 2022
Mobile Menu end -->
पिता बने सारथी तो बेटी ने फेंका स्वर्णिम भाला, मोदीनगर की साक्षी ने जैवलिन में हथियाया गोल्ड

पिता बने सारथी तो बेटी ने फेंका स्वर्णिम भाला, मोदीनगर की साक्षी ने जैवलिन में हथियाया गोल्ड

स्पेशल स्टोरी

टोक्यो ओलंपिक से पहले जैवलिन खेल का नाम बेहद कम लोग जानते थे। लेकिन नीरज चोपडा के गोल्ड जीतते ही जैवलिन का नाम देशवासियों के जहन में हमेशा के लिए चस्पा हो गया। इसी जैवलिन में गाजियाबाद की एक बेटी ने अपना लोहा मनवाते हुए दिल्ली आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर जनपद का नाम रोशन कर दिय

Share Story