Thursday, Apr 02, 2020
दुनिया के पहले खगोल शास्त्री आर्य भट्ट की जयंति, आज भी नासा में पढ़ाई जाती है आर्य भटीयम्

दुनिया के पहले खगोल शास्त्री आर्य भट्ट की जयंति, आज भी नासा में पढ़ाई जाती है आर्य भटीयम्

स्पेशल स्टोरी

आर्यभट्ट ने खगोल शास्त्र में महारथ हासिल की और इन कमियों को पूरा किया। उन्होंने चौथी शताब्दी में ही पृथ्वी के सूरज के चारों ओर घूमने और उसकी गति की सटीक गणनाएं कर दी थी। इससे लोगों का भरोसा दोबारा भारतीय पद्धति पर जम गया।

Share Story
  • भारतीय इंजीनियर ने खोज निकाला विक्रम का मलवा, जानें पूरी कहानी

    भारतीय इंजीनियर ने खोज निकाला विक्रम का मलवा, जानें पूरी कहानी

    अमेरिकी स्पेस रिसर्च एजेंसी (NASA) ने विक्रम लैंडर (Vikram Lander) के मलवे के पाए जाने की पुष्टि करते हुए एक बयान जारी कर दिया है। जब चांद के साउथ पोल की तस्वीरे जारी की तब चेन्नई के इंजीनियर शानमुगा सुब्रमण्यन (Shanmuga Subramanian) ने इन तस्वीरों पर जमकर मेहतन की और दुर्घटनाग्रस्त हुए चंद्रयान-2 क

  • चांद के सतह पर मिला चंद्रयान-2 का मलबा, NASA ने साझा की तस्वीर

    चांद के सतह पर मिला चंद्रयान-2 का मलबा, NASA ने साझा की तस्वीर

    नासा (NASA) ने भारत के विक्रम लैंडर (Vikram Lander) का पता चलने का दावा करते हुए उसकी एक तस्वीर साझा की है। चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) के विक्रम लैंडर की सात सितंबर को चंद्रमा (Moon) की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग कराने की भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organization) की कोशिश नाकाम र

  • दिल्ली की प्रदूषित हवा से बचने के लिए घर लाएं ये पौधे

    दिल्ली की प्रदूषित हवा से बचने के लिए घर लाएं ये पौधे

    वैसे तो दिल्ली (delhi) की हवा हानिकारक है हीं लेकिन दिवाली (diwali) के बाद ये और भी जानलेवा हो चुकि है। जी हां, गैस चैंबर (gas chamber) बनी राजधानी की हालात बेकाबू हो गई है। सांस लेना कठिन हो गया है। ऐसे में खुद का ख्याल रखान बेहद जरूरी हो गया है।

  • विक्रम लैंडर को ढूंढने में NASA भी नाकाम, अमेरिकी ऑर्बिटर को नहीं मिला कोई सुराग

    विक्रम लैंडर को ढूंढने में NASA भी नाकाम, अमेरिकी ऑर्बिटर को नहीं मिला कोई सुराग

    अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा है कि चंद्रमा क्षेत्र के पास से हाल में गुजरे उसके चंद्रमा ऑर्बिटर द्वारा कैद की गई तस्वीरों में चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का कोई सुराग नहीं मिला है। यह ऑर्बिटर चंद्रमा के उस क्षेत्र से गुजरा था जहां भारत के महत्त्वाकांक्षी मिशन ‘चंद्रयान-2’ ने सॉफ्ट लैंडिंग का प्रयास कि

  • मंगल के लिए NASA के रॉकेट में होगा भगवान वेंकटेश्वर का नाम

    मंगल के लिए NASA के रॉकेट में होगा भगवान वेंकटेश्वर का नाम

    तिरूमला स्थित प्रसिद्ध मंदिर के भगवान वेंकटेश्वर का नाम माइक्रोचिप्स में दर्ज होगा और इसे लाल ग्रह के लिए उड़ान भरने वाले नासा के मंगल 2020 रोवर में लगाया जाएगा।

  • Chandrayaan-2: नासा भी नहीं खोज पाया ISRO का  #VikramLander, हुई थी हार्ड लैंडिंग

    Chandrayaan-2: नासा भी नहीं खोज पाया ISRO का #VikramLander, हुई थी हार्ड लैंडिंग

    अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अपने ‘लूनर रिकॉनिसंस ऑॢबटर कैमरा’ से ली गईं उस क्षेत्र की ‘हाई रेजोल्यूशन’ तस्वीरें शुक्रवार को जारी कीं जहां भारत ने अपने महत्वाकांक्षी ‘चंद्रयान-2’ मिशन के तहत लैंडर विक्रम की ‘सॉफ्ट लैंडिग’ कराने की कोशिश की थी। नासा ने इन तस्वीरों के आधार पर बताया कि नासा की ‘ह