Tuesday, May 17, 2022
Mobile Menu end -->
द्वारका बावली, जो बुझाती थी लोहारहेडी गांव के लोगों की प्यास

द्वारका बावली, जो बुझाती थी लोहारहेडी गांव के लोगों की प्यास

स्पेशल स्टोरी

द्वारका बावली स्टेट आर्कियोलाॅजी द्वारा संरक्षित है। इसकी स्थापत्य कला के अनुसार इतिहासकार बावली को पठान काल की बताते हैं। लेकिन द्वारका की बडी-बडी बिल्डिंगों के बीच इस बावली की ऐतिहासिकता कहीं खो सी गई है।

Share Story