Monday, Jan 17, 2022
Mobile Menu end -->
जेएनयू ने यौन उत्पीडऩ पर परामर्श सत्र के लिए अपने आमंत्रण की भाषा बदली

जेएनयू ने यौन उत्पीडऩ पर परामर्श सत्र के लिए अपने आमंत्रण की भाषा बदली

स्पेशल स्टोरी

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) ने यौन उत्पीडऩ पर परामर्श के लिए अपने सार्वजनिक आमंत्रण की भाषा को संशोधित किया है और इस वाक्य को हटा दिया है कि लड़कियों को यह जानना चाहिए कि उनके और उनके पुरुष मित्रों के बीच एक ठोस रेखा कैसे खींचनी है। इस वाक्य पर छात्रों और शिक्षकों ने आपत्ति जताई थी...

Share Story